योजना:प्रदेश में खुलेंगे 75 नए औद्योगिक क्षेत्र : मंत्री मीणा

लालसोट2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लालसोट उप जिला स्तरीय अस्पताल में लगेगी रंगीन सोनोग्राफी तथा डिजिटल एक्सरे मशीन

उद्योग मंत्री परसादी लाल मीणा ने कहा कि सरकार की औद्योगिक नीति के कारण प्रदेश में औद्योगिक निवेश का वातावरण बना हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में औद्योगिक विकास के लिए इस सत्र में 75 नए रीको औद्योगिक क्षेत्र खोले जाएंगे। कैबिनेट ने हाल ही 57000 करोड़ रुपए के निवेश प्रस्ताव को मंजूरी जारी की है। उद्योग मंत्री परसादीलाल मीणा उपखंड मुख्यालय पर पंचायत समिति के सभागार में आयोजित साधारण सभा के बाद भास्कर को दी गई भेंट वार्ता में यह जानकारी दे रहे थे।उन्होंने कहा कि बिजली सब जगह एक जैसी दरें हैं महंगी बिजली होने की बात कहते हैं। मगर राजस्थान सरकार द्वारा उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए नीति में किए गए सरलीकरण के कारण प्रदेश में औद्योगिक वातावरण बना है। जिसके कारण निवेश में बढ़ोतरी हुई है। कोरोना काल में सबसे ज्यादा रीको के भूखंड बिके हैं। रिब्स पॉलिसी के कारण उद्यमियों का राजस्थान में निवेश के प्रति आकर्षण है। सरकार की नीति सस्ती जमीन बेहतर कानून व्यवस्था तथा श्रमिकों की उपलब्धता के कारण निवेशकों की पहली प्राथमिकता राजस्थान है।

बिजली का कोई मुद्दा नहीं है। महंगी बिजली के आरोप निराधार है। इस अवसर पर भास्कर द्वारा उप जिला स्तरीय अस्पताल में पुरानी मशीनों से हो रहे एक्स-रे और सोनोग्राफी पर ध्यान आकर्षित करने पर उन्होंने चिकित्सा सुविधाओं का विस्तार करते हुए डिजिटल एक्सरे मशीन तथा रंगीन सोनोग्राफी मशीन लग रहा है जाने की घोषणा की है।पंचायत समिति साधारण सभा की बैठक की अध्यक्षता कर रहे प्रधान नाथू लाल मीणा एडवोकेट ने कहा कि जनप्रतिनिधि जनता के प्रति संवेदनशील होकर काम करें पेयजल योजनाओं का लाभ लोगों को मिले इसके लिए समय पर बिजली के बिल चुका है। वहीं दूसरी तरफ सरपंच संघ के अध्यक्ष हेमराज मीणा, लादू राम गुर्जर, पंचायत समिति सदस्य आनंदी लाल मीणा सरपंचों ने भी उद्योग मंत्री को अपना दुखड़ा सुनाया।

बिजली निगम द्वारा साल में एक बार ही बिजली का बिल दिया जाता है। ऐसी स्थिति में विकास योजनाओं का लाखों रुपए सालाना निगम के बिलों के भेंट चढ़ जाता है। प्रत्येक 2 माह में खपत के अनुसार बिजली के बिल दिए जाए। जिससे कनेक्शन नहीं कटे। इधर दूसरी तरफ गोल के सरपंच ने ने कहा कि बिजली का ट्रांसफार्मर लगा नहीं कनेक्शन हुआ नहीं और भेज दिया बिल। इस अवसर पर डीडवाना सरपंच विनोद फुलवरिया, सरपंच पांची देवी मीणा, मेवाराम मीणा, रामप्रसाद मीणा, प्रीतम सिंह, अंबा लाल मीणा, जितेंद्र सैनी सहित अनेकों लोग मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...