पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मंडावर में प्रशासन व खाद्य विभाग की बड़ी कार्रवाई:एक क्विंटल से अधिक मिलावटी पनीर पकड़ा, मौके पर किया नष्ट

मंडावरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

क्षेत्र में दीपावली से पूर्व मिठाइयों व दुग्ध उत्पादों में मिलावट को लेकर एसडीएम रवि विजय के नेतृत्व में प्रशासन व खाद्य विभाग की संयुक्त टीम ने छापामार कार्रवाई कर एक क्विंटल से अधिक मिलावटी पनीर बरामद किया। जिसे टीम ने मौके पर ही गड्डा खुदवाकर जेसीबी की मदद से नष्ट करवाया। जानकारी के अनुसार जिला कलेक्टर के निर्देशानुसार एसडीएम रवि विजय के नेतृत्व में पुलिस प्रशासन व खाद्य विभाग की टीम बस स्टैंड के पास संचालित पनीर फैक्ट्री पर पहुंची। जहां भारी मात्रा में मिलावटी पनीर मौके पर मिला जिसमे बुरी तरह सड़ांध आ रही थी। खाद्य निरीक्षक महेंद्र चतुर्वेदी ने बताया कि पनीर फैक्ट्री बल्ला सैनी द्वारा संचालित किया जा रहा था उन्होंने बताया कि पनीर फैक्ट्री पर एक कुंटल 5 किलो ग्राम मिलावटी पनीर मिला। जिसकी जांच करने पर प्रथम दृष्टया मिलावटी था जिसमें बुरी तरह दुर्गंध आ रही थी। इसे लेकर मोके पर मौजूद टीम द्वारा जेसीबी की सहायता से गड्ढा खोदकर दूषित पनीर को नष्ट करवाया। इधर खाद्य विभाग एवं प्रशासन द्वारा पनीर फैक्ट्री पर की गई कार्रवाई के भय से दुकानदार अपनी दुकान बंद कर भाग गए।

यही नहीं कस्बे में रोड बस स्टैंड के पास गया जो कार्रवाई की खबर मिलते ही भूमिगत हो गए। इस दौरान टीम ने तीन चीजो के सेंपल लिए जिन्हें जांच के लिए भिजवाया गया है। गौरतलब है कि जब जब त्यौहार का समय आता है तब खाद्य विभाग की टीम कार्रवाई करती है लेकिन त्यौहार के बाद वह महज दिखावा ही साबित होता है। ऐसे में देखना यह है कि इस बार प्रशासन किस हद तक मिलावटी मिठाइयों व दुग्ध के उत्पादों पर लगाम लगा पाएगा।

लंबे समय से मिल रही थी शिकायतें

प्रशासन के अनुसार पिछले कई दिनों से महवा व मंडावर में मिलावटी मिठाइयों की शिकायत मिल रही थी। आगामी दीवाली सहित त्योहारों को देखते हुए मिलावटी मिठाइयों नकली दूध, घी की संभावना के मद्देनजर स्थानीय प्रशासन व खाद्य विभाग की टीम ने संयुक्त कार्रवाई की गई है। जानकार सूत्रों के अनुसार उपखंड महवा व मंडावर क्षेत्र में सिंथेटिक पनीर, सिंथेटिक मावे से मिठाइयां बनाई जा रही हैं साथ ही अलवर जिले से बड़ी तादाद में मिलावटी कलाकंद सस्ती दरों पर भी यहां पहुंच रहा है। मिठाई विक्रेताओं को यह कलाकंद काफी कम दर में प्राप्त होता है और ग्राहकों को अधिक दर में दिया जाता है। जो कि आमजन के स्वास्थ्य के लिए घातक है। उन्होंने बताया कि मिठाइयों की जांच की कार्रवाई को निरंतर जारी रखा जाएगा। दीपावली से पूर्व मिलावटी मिठाइयों व दुग्ध उत्पादों पर अंकुश लगाने के लिए स्थानीय प्रशासन सहित खाद्य विभाग की संयुक्त टीम द्वारा गुरुवार को उपखंड क्षेत्र में भी पनीर फैक्ट्री व मिठाई विक्रेताओं के यहां छापे मार कार्रवाई की। लेकिन विभाग के निरीक्षक महेंद्र चतुर्वेदी की माने तो गुरुवार को लिए गए इन सैंपलो व मिलावट की रिपोर्ट 40 दिनों बाद तक आएगी तब तक दिवाली सहित अन्य त्यौहारो पर बड़ी तादाद में मिलावटी मिठाइयों में उत्पादों की धड़ल्ले से बिक्री हो चुकी होगी। ऐसे में सवाल उठता है कि प्रशासन द्वारा छेड़ा गया शुद्ध के लिए युद्ध अभियान व लिए गए सैंपल किस हद तक कारगर सिद्ध होंगे।

कार्रवाई के दौरान ये अधिकारी रहे मौजूद
पुलिस प्रशासन विभाग द्वारा मिलावटी खाद्य पदार्थों की बिक्री को लेकर की गई कार्रवाई के दौरान एसडीएम रवि विजय, डीएसपी शंकर लाल मीणा, तहसीलदार अभिषेक यादव, विकास अधिकारी विक्रम गुर्जर, प्रवर्तन निरीक्षक विजय लक्ष्मी विभाग के अधिकारी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...