प्रशिक्षण कार्यक्रम:सिरोही नस्ल की बकरियों के आनुवांशिक सुधार पर चर्चा

मालपुरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मालपुरा। केंद्रीय संस्थान अविकानगर में बकरी आनुवासिक सुधार प्रक्षिक्षण हुआ। - Dainik Bhaskar
मालपुरा। केंद्रीय संस्थान अविकानगर में बकरी आनुवासिक सुधार प्रक्षिक्षण हुआ।
  • कार्यक्रम अविकानगर में नेशनल लाइव स्टॉक मिशन के तहत प्रशिक्षण कार्यक्रम

केंद्रीय भेड़ एवं ऊन अनुसंधान संस्थान अविकानगर में बुधवार को नेशनल लाइव स्टॉक मिशन के तहत आयोजित सिरोही बकरी के आनुवांशिक सुधार संबंधी बैठक व प्रशिक्षण कार्यक्रम में राजस्थान के आठ जिलों सीकर, जयपुर, चूरू, सिरोही, अजमेर, नागौर व राजसमंद, सहित चित्तौडगढ के 20 पशु चिकित्साधिकारियों ने भाग लिया।

बकरी में आनुवांशिक सुधार कर भूमिहीन, लघु व पिछडे किसानों को आर्थिक लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए निदेशक डॉ. अरुण कुमार तोमर ने बताया कि बकरी राजस्थान की परिस्थितियों के मद्देनजर गरीब का एटीएम माना जाता रहा है जो आजीविका का सुलभ साधन है। राज्य सरकार के संयुक्त निदेशक स्माल एनिमल डॉ.पी.सी.जैन ने इस अवसर पर केंद्रीय परिवर्तित योजना को जमीन पर उतार किसानों पशुपालकों को लाभांवित करने की योजना से अवगत कराया।प्रशिक्षण में केंद्रीय संस्थान अविकानगर के वैज्ञानिक विशेषज्ञ डॉ. राघवेंद्र सिंह, डॉ. आर.सी.शर्मा, डॉ. एस.आर.शर्मा, डॉ. आर.एस.भट्‌ट, डॉ. पी.के.मलिक ने जिलों से आए चिकित्साधिकारियों के सवालों का जवाब देकर बकरी की आनुवांशिकता में सुधार के उपाय बताए। कार्यक्रम समन्वयक डॉ.एस.एस मिश्रा ने अन्य आवश्यक जानकारियों प्रदान की व संचालन डॉ. एस.सी.शर्मा ने किया।

खबरें और भी हैं...