फ्रजी पट्‌टा प्रकरण:कलेक्टर के पास पहुंचा चरागाह के रास्ते पर आवंटित खनन पट्‌टा प्रकरण, जांच शुरू

मालपुराएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • ढोलाखेड़ा में रास्ते पर खनन पट्‌टा जारी करने से कई खेतों का संपर्क कट गया

उपखंड के ग्राम ढोलाखेडा की चरागाह भूमि के रास्ते पर खनन के लिए जारी किए गए पट्टों का मामला जिला कलेक्टर टोंक तक पंहूचने के बाद संबंधित अधिकारियों में हलचल मची हुई है। चरागाह भूमि से गुजर रहे रास्ते से होकर आगे करीब एक हजार बीघा खेती की जमीन के करीब एक सौ खातेदार किसानों ने कलक्टर टोंक के समक्ष उपस्थित अपनी पीडा बताई तो मामले की गंभीरता को देखते हुए कलक्टर ने मालपुरा एसडीएम को चरागाह में आबंटित खनन पट्‌टा प्रकरण की बिंदुवार जांच कर रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए है। उधर मामला राज्य सरकार के संपर्क पोर्टल पर दर्ज होने व जनसुनवाई में मामला उजागर होने के अलावा मालपुरा एसडीएम को भी ज्ञापन प्रस्तुत कर अवगत कराने से छोटे से गांव ढोला खेडा के चरागाह में खनन पट्‌टे जारी करने का मामला गहरा गया है। ढोलाखेडा के बाबूलाल, रामलाल शर्मा, छीतर लाल शर्मा, राजेंद्र कुमार  शर्मा, लालचंद, दशरथ लाल र्मा व रामसहाय  सहित अन्य गांव वासियों की ओर से कलक्टर को प्रस्तुत किए ज्ञापन में अवगत कराया कि आवंटी द्वारा विभाग के अधिकारियों से मिली भगत से खनन पट्‌टा जारी करा लिया। जबकी आबंटित खसरे में आम रास्ता दर्ज है। जहां से किसान अपने खेतों में पर जाते है । खनन पट्‌टों के कारण किसानों के खेतों का रास्ता बंद हो गया। मजे की बात यह है कि संबंधित विभाग ने उक्त तमाम तथ्य छिपा कर कलक्टर की एनओसी प्राप्त  की जिससे गांव वालों के समक्ष रास्ते का संकट पैदा हो गया। कलक्टर को सौंपें ज्ञापन में ग्रामीणों ने बताया कि रास्ते के अलावा पास में गांव आबादी है जिससे खनन धमाकों के कारण समूचा गांव परेशान है। कलक्टर टोंक ने उक्त् सभी बिंदुओं की जांच कर एसडीएम मालपुरा से रिपोर्ट मांगी है।

खबरें और भी हैं...