कोरोना को आमंत्रण:कैसे होगी कोरोना से सुरक्षा, पानी की व्यवस्था के लिए कंचनपुर में निजी नलकूपों पर भीड़

मासलपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सरकार द्वारा कोरोना से सुरक्षा को लेकर गाइडलाइन जारी की है। इसमें मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करना बेहद जरूरी है, लेकिन मासलपुर के कंचनपुर में पेयजल संकट बना हुआ है। यहां कोरोना से सुरक्षा के साथ-साथ यहां पानी की व्यवस्था करना भी जरूरी है। मासलपुर के कंचनपुर में निजी नलकूप से पानी भरने के लिए लोगों की खासी भीड़ लग जाती है। ऐसे में कोरोना से सुरक्षा कैसे हो पाएगी। गौरतलब है कि मासलपुर तहसील के कंचनपुर में जनता जल योजना के नलकूप खराब पड़े हुए हैं यहां पर विभाग द्वारा टंकियां भी बनाई गई है लेकिन इनमें पानी नहीं पहुंच रहा है।

ऐसे हालात में एक निजी नलकूप से जो कि गांव से करीब 2 किलोमीटर दूर है इसी निजी नलकूप से गांव तक पाइप लाइन से पानी आ रहा है। जहां पर पानी आने के बाद कंचनपुर, लखनीपुर और चमरोला के ग्रामीण एक साथ पानी भरने के लिए एकत्रित हो जाते हैं।ऐसे हालात में कोरोना से सुरक्षा को लेकर जारी की गाइडलाइन की पालना होना मुश्किल हो रहा है, क्योंकि लोगों का कहना है कि कोरोना सुरक्षा के साथ-साथ पेयजल की व्यवस्था करना भी जरूरी है। कंचनपुर सरपंच दिनेश चंद्र ने बताया कि उन्होंने गांव में सरकारी नलकूप लगवाने और पेयजल की बड़ी टंकी निर्माण कराने के लिए करौली विधायक लाखन सिंह कटकड़ के साथ विभाग के अधिकारियों को ज्ञापन दिए लेकिन सरकारी नलकूप नहीं लग पाया है।

उन्होंने गांव में सरकारी नलकूप लगाने और टंकियों में पानी पहुंचाने की मांग की है। जिला कांग्रेस की पूर्व महासचिव अनीता मीणा ने जलदाय विभाग के अधिकारियों से बात कर कंचनपुर में पानी की समस्या का समाधान कराने के लिए सरकारी नलकूप स्थापित कराने का आग्रह किया है।

खबरें और भी हैं...