पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दस्त नियंत्रण पखवाड़ा:एएनएम व आशाओं को दस्त नियंत्रण पखवाड़े की सफल क्रियान्विति का प्रशिक्षण दिया

नारौली20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से जिले भर में पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों की दस्त तथा कुपोषण से होने वाली मृत्यु दर में कमी लाने के लिए दस्त नियंत्रण पखवाड़ा 7 जुलाई से 6 अगस्त तक चलाया जाएगा।इस संबंध में दस्त नियंत्रण पखवाड़े की सफल क्रियान्वित को लेकर नारौली डांग में सेक्टर के अधीन एएनएम व आशाओं को प्रशिक्षण दिया गया। आशा सुपरवाइजर श्याम सुन्दर वर्मा ने बताया कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत राज्य में प्रति वर्ष सशक्त दस्त नियंत्रण पखवाड़ा (आईडीसीएफ) का आयोजन सभी जिलों में डायरिया रोग से शून्य बाल्यकाल मृत्यु के उद्देश्य से वर्ष 2014 से किया जा रहा है।

आईडीसीएफ के अंतर्गत डायरिया की रोकथाम एवं उचित प्रबंधन हेतु चिकित्सा संस्थान एवं समुदाय स्तर पर गतिविधियां आयोजित की जाती है। वर्तमान में कोविड-19 महामारी के दौरान विभिन्न कारणों से आईडीसीएफ की संपूर्ण गतिविधियां एक साथ किया जाना संभव नहीं है।इसको ध्यान में रखते हुए भारत सरकार द्वारा विशेषज्ञों की अनुशंसा के आधार पर राज्य स्तर पर दस्त रोग की रोकथाम एवं उचित प्रबंधन हेतु समस्त गतिविधियां 7 जुलाई से 6 अगस्त तक आयोजित की जाएगी। दस्त रोग की रोकथाम एवं उचित प्रबंधन हेतु आयोजित समस्त गतिविधियों में कोविड-19 महामारी को ध्यान में रखते हुए सैनिटाइजेशन एवं सामाजिक दूरी की पालना सुनिश्चित करने के साथ ही यह सुनिश्चित किया जावे कि दस्त रोग से ग्रसित 5 वर्ष तक की आयु वाले सभी बच्चों को ओआरएस एवं जिंक की उपलब्धता के साथ चिकित्सा संस्थानों पर दस्त रोग का समुचित प्रबंधन करने के निर्देश दिए गए है।

खबरें और भी हैं...