पुरुषों के नाम से ही संपत्तियां खरीदने का ट्रेंड:मां-पत्नी के नाम स्टांप ड्यूटी में 1% की छूट, फिर भी 83% संपत्ति खरीद पुरुषों के नाम

जयपुर9 महीने पहलेलेखक: मनोज शर्मा
  • कॉपी लिंक
कोरोना की दूसरी लहर के बावजूद संपत्ति खरीद में 39% का उछाल। - Dainik Bhaskar
कोरोना की दूसरी लहर के बावजूद संपत्ति खरीद में 39% का उछाल।

प्रदेश में महिलाओं के नाम पर संपत्ति खरीदने पर स्टाम्प ड्यूटी में सरकार 1% की छूट देती है। यानी 20 लाख रु. की संपत्ति पर करीब 20 हजार रु. की बचत हो सकती है। पुरुषों को 6% जबकि महिलाओं को 5% स्टाम्प ड्यूटी देनी होती है। इसके बावजूद प्रदेश में अब भी पिता-पुत्र या भाई सहित पुरुषों के नाम से ही संपत्तियां खरीदने का ट्रेंड है। अब भी 83% से अधिक संपत्तियां पुरुषों के नाम पर खरीदी जा रही हैं। हालांकि कोरोनाकाल में यह आंकड़ा कुछ बदला है।

पिछले साल की तुलना में इस साल अप्रैल से सितंबर तक 16.57% दस्तावेज महिलाओं के नाम बनवाए गए, जो गत साल की तुलना में 1% ज्यादा है, लेकिन 5 साल में यह 5% बढ़ा है। राहत की खबर यह भी है कि कोरोना की दूसरी लहर के बावजूद संपत्ति खरीद में 39% से अधिक की वृद्धि हुई है। संपत्ति खरीदने और उनके रजिस्ट्रेशन के मामलों में बढोतरी बताती है कि रियल एस्टेट के बाजार में अच्छी ग्रोथ आ रही है। इस साल सितंबर तक ही जमीन, जायजाद, घर, मकान एवं फ्लैट खरीदने में करीब 39 प्रतिशत का उछाल देखा गया। राज्य के रजिस्ट्रेशन एवं स्टाम्प डिपार्टमेंट, अजमेर के रेवेन्यू एचीवमेंट के आंकड़ों में यह जानकारी सामने आई है।