पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भास्कर सामाजिक सरोकार:10 सड़कें, 82 किलोमीटर, 1640 पेड़ों को जीवनदान के लिए ट्री-प्लांट ग्रेटिंग शुरू

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पेड़ों का दम घोटने वाले इंजीनियर अब उनको बचाने में जुटे

आखिरकार सबको प्राणवायु देने वाले पेड़ों का जीवन बचाने की पहल शुरू हो ही गई है। भास्कर ने सड़कों पर परत दर परत चढ़ी डामर, फुटपाथ पर पेड़ के तनों से गुंथी टाइलों और इन्हीं से लगते चबूतरों के चलते जो दम घुट रहा था, उसकी हकीकत बयां की थी।

जेडीए ने 10 मेजर सड़कों पर इनके हाल जांचे तो 82 किमी में 1640 पेड़ ऐसे मिले, जिनके मौत की पटकथा उन्हीं के इंजीनियर ठेकेदारों ने लिखी हुई थी। आखिरकार यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल से मिले निर्देश पर इन्हें बचाने की पहल शुरू हो गई है।

भास्कर ने आईना दिखाया तो जेडीए ने सबूत उठाए, सर्वे में सामने आया ये सच-

5 जून को प्रकाशित खबर
5 जून को प्रकाशित खबर

अपनी तरह का पहला प्रोजेक्ट
पेड़ों को जीवन देने का यह अपने आप में पहला प्रोजेक्ट है। जेएलएन पर तैयार सैंपल पर गुरुवार को जेडीसी ने फिर डायरेक्टर इंजीनियरिंग वीएस सूंडा, उद्यानविद् महेश तिवारी से बात कर इसे फाइनल किया। तय हुआ है कि 2 फिट या कंकरीट रहने तक पक्के फर्श को हटाएंगे।

इसके बाद फिर से सही मिट्‌टी डाल खाद के साथ पानी की व्यवस्था होगी। इको फ्रेंडली रिंग नेचुरल हेबिटाट की तरह तैयार होगी। बाहर डबल टाइल से थांवला पक्का कर भीतर पूरा कच्चा होगा।

खबरें और भी हैं...