• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • 10 Thousand Jewelery Worth Crores Will Not Be Hallmarked, 100 Crore Business Will Be Affected; Hallmark Center Operator Will Protest In Johri Bazar

राजस्थान में आज हॉलमार्किंग सेंटर्स बंद:10 हजार आभूषणों पर नहीं हुआ हॉलमार्क, 40 करोड़ का व्यापर होगा प्रभावित; हॉलमार्क सेंटर संचालक ने किया विरोध

जयपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सरकार के खिलाफ जयपुर में विरोध करते व्यापारी। - Dainik Bhaskar
सरकार के खिलाफ जयपुर में विरोध करते व्यापारी।

सोने के आभूषणों पर हॉलमार्किंग यूनीक आईडी के खिलाफ आज देशभर में हॉलमार्क सेंटर संचालक हड़ताल पर है। राजधानी जयपुर समेत प्रदेशभर में प्रदेश के सभी 46 हॉलमार्क सेंटर बंद रहे। जिस वजह से आज 10 हजार गहनों की हॉलमार्किंग नहीं हो सकी। जिस वजह से प्रदेशभर में आज 40 करोड़ से अधिक का सोने के जेवरात का व्यापर प्रभावित हुआ।

हॉलमार्किंग सेंटर एसोसिएशन के चेयरमैन उदय सोनी ने बताया की सरकार ने बड़े औद्योगिक घरानों के दबाव में हॉलमार्किंग नीति में बदलाव किए हैं। लेकिन इन बदलावों से बड़ी कंपनियों को तो फायदा होगा, जबकि गांव और कस्‍बों में छोटे-छोटे हॉलमार्किंग सेंटर संचालकों और सोने के आभूषण खरीदने वाले आम उपभोक्‍ताओं को भारी नुकसान झेलना पड़ेगा। सोनी ने बताया कि वर्तमान में सरकार की ओर से प्रति पीस 35 रुपये फीस तय है। ऐसे में सरकार के इन सभी नियमों का पालन करने के लिए हॉलमार्किंग की प्रति पीस 150 रुपये फीस होनी चाहिए।

उन्होंने बताया की सरकार ने हॉलमार्क नीति के नियमों में बदलाव कर ज्वैलरी मैन्‍यूफैक्‍चर्स को ही हॉलमार्किंग के लिए सेल्‍फ सर्टिफिकेट जारी करने के अधिकार दे दिए हैं। जो हॉलमार्किंग सेंटर्स संचालकों के साथ सरासर अन्‍याय है। एक हॉलमार्किंग सेंटर लगाने पर 70 लाख से 1 करोड़ रुपये का निवेश होता है। एक सेंटर पर लगभग 10 लोगों को रोजगार मिलता है। लेकिन सरकार को इसकी चिंता नहीं है। ऐसे में मजबूरन आज सरकार के खिलाफ देशभर के हॉलमार्क व्यापारी अपने प्रतिष्ठान बंद रख विरोध करने को मजबूर हुए है।

खबरें और भी हैं...