पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • 1000 Beds For Covid Patient In SMS Hospital Jaipur Rajasthan, 650 Patients On Oxygen; 2000 Cylinders Needed Daily Ground Report

ऑक्सीजन की कमी से रोकी मरीजों की शिफ्टिंग:SMS हॉस्पिटल में कोविड पेशेंट के लिए 1000 बैड, इनमें 650 मरीज ऑक्सीजन पर; रोजाना 2000 सिलेंडर की जरुरत

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर में एसएमएस अस्पताल के इमरजेंसी ईकाई गेट पर कोरोना पॉजिटिव मरीजों के प्रवेश को रोकने के लिए ट्रॉलियां लगा दी गई है। - Dainik Bhaskar
जयपुर में एसएमएस अस्पताल के इमरजेंसी ईकाई गेट पर कोरोना पॉजिटिव मरीजों के प्रवेश को रोकने के लिए ट्रॉलियां लगा दी गई है।
  • सवाई मानसिंह अस्पताल के अधीक्षक ने चिकित्सा विभाग को लिखा पत्र-पहले ऑक्सीजन सिलेंडर की पूर्ति करें तभी RUHS से शिफ्ट मरीजों को भर्ती कर सकेंगे

राजस्थान में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ने से ऑक्सीजन और बैड की मारामारी चल रही है। जयपुर में प्रताप नगर स्थित सबसे बड़ा कोविड सेंटर RUHS में मरीजों का भार बढ़ गया है। वहां लगभग सभी बैड पर मरीज है। ऑक्सीजन वेंटिलेटर और आईसीयू बैड खाली नहीं है। RUHS अस्पताल में ग्राउंड फ्लोर से लेकर आठवीं मंजिल तक बरामदों और वार्ड में कोरोना पेशेंट्स का इलाज किया जा रहा है। ऐसे में मरीज का भार कम करने के लिए चिकित्सा विभाग ने प्रदेश के सबसे बड़े SMS अस्पताल में मरीजों को शिफ्ट करने के आदेश जारी कर दिए है।

लेकिन SMS में भी ऑक्सीजन की डिमांड को सरकार पूरी नहीं कर पा रही है। ऐसे में SMS अस्पताल प्रशासन ने शिफ्ट मरीजों को भर्ती करने से मना कर दिया है। इस संबंध में अस्पताल अधीक्षक डॉ. राजेश शर्मा ने चिकित्सा विभाग को एक पत्र लिखा है। जिसमें कहा है कि अस्पताल में ऑक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था नहीं होने तक कोविड मरीजों को एसएमएस में शिफ्ट करने के आदेश को वापस लिया जाए।

साथ ही, कोरोना पेशेंट को लेकर आने वाली गाड़ियों के प्रवेश को रोकने के लिए SMS अस्पताल प्रशासन ने इमरजेंसी गेट पर ट्रॉलियां लगा दी है। शनिवार को भी यहां टोंक जिले में निवाई से आई 25 वर्षीय रश्मि खंडेलवाल ने भर्ती करने से इंकार करने पर गेट पर ही तड़पते हुए दम तोड़ दिया था।

अभी रोजाना 2000 सिलेंडर की जरुरत

पत्र में लिखा गया है कि RUHS से शिफ्ट मरीजों को भर्ती करने से पहले 3000 हजार सिलेंडर दिलवाए जाए। अस्पताल में भर्ती मरीजों की संख्या को देखते हुए रोजाना करीब 2000 ऑक्सीजन सिलेंडर की जरुरत है। आगे और मरीजों की संख्या में इजाफा होने पर ऑक्सीजन की जरुरत होगी।

बीते दिन 1260 सिलेंडर उपलब्ध करवाए गए। लेकिन वैकल्पिक व्यवस्था कर 1518 ऑक्सीजन सिलेंडर मरीजों के उपचार के लिए उपयोग में आए। डॉ. राजेश शर्मा के अनुसार चिकित्सा विभाग ने डिमांड के अनुसार सिलेंडर उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया है। ऐसे में मरीजों को शिफ्ट करने की तैयारी कर रहे है।

1000 बैड कोरोना पेशेंट के लिए रिवर्ज, 650 मरीज ऑक्सीजन पर है
जानकारी के अनुसार अस्पताल में 1000 बैड कोरोना पेशेंट के लिए रिजर्व किए गए है। एसएमएस और चरक भवन में करीब 800 मरीज भर्ती है। इनमें 650 मरीज ऑक्सीजन पर है। अस्पताल में अभी कोविड वार्डों में बैड खाली है। लेकिन ऑक्सीजन की आपूर्ति होने तक यहां मरीज भर्ती नहीं किए जा सकते है।

खबरें और भी हैं...