पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

शिक्षा:प्रदेश में इंजीनियरिंग की 11 हजार सीटें घटीं, 39 हजार थीं, 28 हजार ही रह गईं

जयपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

(अर्पित शर्मा) इस साल प्रदेश में इंजीनियरिंग की करीब 11 हजार सीटें कम हो गई हैं। पिछले साल जहां 95 इंजीनियरिंग कॉलेजों में करीब 39 हजार सीटें थी। वहीं इस बार कॉलेजों की संख्या 85 और सीटें मात्र 28 हजार रह गई है। इंजीनियरिंग की कई ब्रांचेज में घटते क्रेज की वजह से ए'kम सीटें आवंटित कराई गई है।
रीप के को कन्वीनर मनीष गुप्ता ने बताया कि इन सीटों पर एडमिशन के लिए रीप के पोर्टल पर गुरुवार से स्टूडेंट्स के आवेदन शुरू हो गए। 21 अगस्त तक स्टूडेंट्स ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। इसके बाद 12वीं और डिप्लोमा के नम्बरों के आधार पर मेरिट बनेगी और कॉलेज अलॉट होंगे। गौरतलब है कि रीप के द्वारा राजस्थान टेक्निकल यूनिवर्सिटी, बीटीयू से संबंधित और कुछ अन्य कॉलेजों की इंजीनियरिंग की सीटों पर एडमिशन होते हैं। इस साल एंट्रेंस टेस्ट से नही बल्कि 12वीं और डिप्लोमा के नम्बरों के आधार पर एडमिशन हो रहा हैं।
इसलिए घटी सीटें
एजुकेशन एक्सपर्ट पुनीत शर्मा ने बताया कि किसी भी इंजीनियरिंग की ब्रांच में एडमिशन नहीं होने पर ब्रांच बंद कर दी गई या जिनमें कम एडमिशन हुए हैं उनमें सीटें कम करवा ली गई है। कई कॉलेज भी बंद हुए हैं। साथ ही आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग, डेटा साइंसेज जैसी नई ब्रांचेज शुरू हुई है।

सीटें कम हुई है क्योंकि 10 कॉलेज बंद हुए हैं और रोजगार के अवसर ध्यान में रखते हुए कई कॉलेजों ने पुरानी ब्रांचेज में सीटें कम कराई हैं। दूसरा पक्ष ये भी है कि इस बार आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसी नई इमर्जिंग ब्रांचेज में करीब 1 हजार सीटें आई है। फीडबैक अच्छा आया तो आगे सीटें भी बढ़ेगी। - शुचि शर्मा, उच्च एवं तकनीकी शिक्षा सचिव

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें