• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • 1133 Villages Of Sikar Jhunjhunu Will Get Drinking Water, Water Supply Department Will Spend 8 Thousand 798 Crores On The Project

इंदिरा गांधी नहर प्रोजेक्ट:सीकर-झुंझुनूं के 1133 गांवों को मिलेगा पेयजल, प्रोजेक्ट पर जलदाय विभाग खर्च करेगा 8 हजार 798 करोड़ रुपए

जयपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर की तीन तहसीलों में आ सकता है आईजीएनपी का पानी । - Dainik Bhaskar
जयपुर की तीन तहसीलों में आ सकता है आईजीएनपी का पानी ।

इंदिरा गांधी नहर प्रोजेक्ट (आईजीएनपी) से अब सीकर व झूंझुनू के 1133 गांवों को पेयजल सप्लाई हो सकेगी। जलदाय विभाग इस पर 8 हजार 798 करोड़ रुपए खर्च करेगा। इसमें 616 गांव मेजर प्रोजेक्ट से है तथा यहां पहली बार पेयजल सप्लाई सिस्टम होगा। वहीं 517 गांव में अब तक रेगुलर डिविजन काम कर रहे है तथा यहां नल व पाइपलाइन का सिस्टम है, लेकिन अब यहां आईजीएनपी का पानी पहुंचाया जाएगा।

इस प्रोजेक्ट की प्रशासनिक व वित्तीय स्वीकृति विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुबोध अग्रवाल की अध्यक्षता वाली एसएलएसएससी ने जारी की है। प्रोजेक्ट की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाने की मॉनिटरिंग एक्सईएन सुरेश शर्मा कर रहे हैं। एक्सईएन सुरेश शर्मा ने एईएन रहते हुए हरमाड़ा व बढ़ारणा क्षेत्र को बीसलपुर प्रोजेक्ट से जोड़ने की प्लानिंग की थी, जिसे हाल ही में फाइनेंस कमेटी ने स्वीकृति दी है। इससे दो साल पहले भी इन्होंने हाईवे से अनुमति लेकर काम किया था।

फिलहाल आईजीएनपी का पानी सीकर की ज्यादातर तहसीलों के गांव व कस्बों तक पहुंच जाएगा। इस प्रोजेक्ट की स्वीकृति के साथ ही जयपुर जिले की कुछ तहसीलों को भी आईजीएनपी से पानी मिलने की आशा बढ़ी है। ऐसे में अगले चरण में जयपुर जिले की चौमूं, किशनगढ़ रेनवाल, शाहपुरा, किशनगढ़ रेनवाल तहसील के गांवों में कस्बों में भी इंदिरा गांधी नहर का पानी पहुंचने की संभावना है। इन गांव-कस्बों में पेयजल संकट है तथा भूजल पर निर्भरता है।

अगले चरण में सीकर व झुंझुनूं में जेजेएम में होंगे काम : सतही जल स्त्रोत इंदिरा गांधी नहर प्रोजेक्ट से सीकर व झुंझुनूं जिले को 260 क्यूसेक पानी दिया जाएगा। सीकर के 13 कस्बों व 864 गांवों और झुंझुनूं के 5 कस्बों व 269 गांवों को जल जीवन मिशन में हर घर नल कनेक्शन दिया जाएगा। इस प्रोजेक्ट में टंकियां (सीडब्ल्यूआर व एसआर), पंप हाउस बनाए जाएंगे। इसके साथ ही ट्रांसमिशन लाइन व राइजिंग लाइन डाली जाएगी। ताकि हर गांव व कॉलोनी तक पानी पहुंचाया जा सके। सीकर जिले की नीमका थाना, पाटन, श्रीमाधोपुर, अजीतगढ़, रींगस, खंडेला, कावंट, खाटू, दांता रामगढ़, बाय व लोसल कस्बों व आसपास के गांवों को पानी मिलेगा।

जयपुर के कनक घाटी व बनीपार्क में भी दूर होगा पेयजल संकट
शहर में जलमहल के आगे पहाड़ी क्षेत्र की कनक घाटी, चौमारिया व देवी खोल क्षेत्र के लोगों को बीसलपुर प्रोजेक्ट से पानी मिलेगा। फाइनेंस कमेटी ने इसके लिए 2 करोड़ 63 लाख रूप की मंजूरी दी है। ब्रह्मपुरी स्थित पंप हाउस से इस क्षेत्र को जोड़ने के लिए डीआई पाइप लाइन बिछाई जाएगी। जलदाय मंत्री महेश जोशी ने पिछले दिनों शहर के कनक घाटी व आसपास के इलाके के साथ ही बनीपार्क में भी पेयजल सप्लाई सुधारने के निर्देश दिए थे।

बनीपार्क क्षेत्र में फूस का बंगला, बड़ौदिया बस्ती, सेन कॉलोनी व आसपास के क्षेत्रों में पेयजल सप्लाई सुधार के लिए 4 करोड़ 28 लाख रुपए खर्च होंगे। इस क्षेत्र को अमानीशाह हैड वर्कर्स स्थित 20 लाख लीटर क्षमता के उच्च जलाशय से जोड़ने के लिए करीब तीन किमी लंबी पाइप लाइन बिछाई जाएगी।

खबरें और भी हैं...