• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • 12 Lakh Cheated From Dentist On The Pretext Of Doubling The Amount On Crossing Business Level, 2 Accused Including B.Tech Accused Arrested From Andhra Pradesh

रकम दोगुनी करने का झांसा देने वाले गिरफ्तार:बीटेक आरोपी समेत 2 आरोपी आंध्रप्रदेश से गिरफ्तार, डेंटिस्ट से 12 लाख ठगे

जयपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गिरफ्तार ठग - Dainik Bhaskar
गिरफ्तार ठग

जयपुर की चंदवाजी थाना पुलिस ने साइबर ठगी के मामले में दो आरोपियों को आंध्र प्रदेश के तिरुपति से गिरफ्तार किया है। जयपुर ग्रामीण एसपी मनीष अग्रवाल ने बताया की सी स्कीम निवासी रचित माथुर ने 2 नवंबर को चंदवाजी थाने में मामला दर्ज करवाया था। पीड़ित रचित माथुर ने बताया कि वह निम्स विश्वविद्यालय में डेंटिस्ट है। नवंबर महीने में उसे टेलीग्राम एप के द्वारा पर मंदिश खान नाम की आईडी से रिक्वेस्ट मिली। इसके बाद पीड़ित ने मंदिश खान नाम की आईडी से बात करने वाले व्यक्ति से मैसेज से बात की। बात करने पर उस व्यक्ति ने बताया कि वह बहुत बड़ी बिजनेस कंपनी का मैनेजर है और बिजनेस के 5 लेवल पूरे करने पर राशि डबल करवा देता है। इस दौरान उस व्यक्ति ने पीड़ित को झांसा देकर 3 बैंक खातों में 12 लाख जमा करवा लिए।

मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने जांच शुरू की और जांच में सामने आया कि तिरुपति आंध्र प्रदेश के टिकोला लक्ष्मी और ए अरुण रेड्डी के द्वारा टेलीग्राम एप पर फर्जी आईडी बनाकर बिजनेस के लेवल बताए जाते हैं। ठगों द्वारा बिजनेस के लेवल बताकर अलग-अलग बिजनेस लेवल पर राशि जमा करवाई जाती है। ठगों के द्वारा 5 लेवल पूरे करने पर राशि डबल होने का झांसा दिया जाता था। जांच में सामने आया कि पीड़ित से अब्दुल गनी नाम के व्यक्ति के बैंक खातों में 4 लाख और दो अन्य खातों में 8 लाख रुपये जमा करवाए गए थे। वहीं सामने आया कि ठगी की राशि से ठग क्रिप्टो करेंसी का बिजनेस करते थे।

एक आरोपी बीटेक

चंदवाजी थानाधिकारी जितेंद्र गंगवानी ने बताया कि पुलिस की टीम ने आंध्र प्रदेश में लगातार कैंप कर तकनीकी सहायता से आरोपियों के ठिकानों की पहचान कर गिरोह के सदस्य आंध्र प्रदेश के छीतूर निवासी अरुण कुमार रेड्डी (27) और दसरे आरोपी आंध्र प्रदेश निवासी अब्दुल गनी (27)को गिरफ्तार किया है। पीड़ित ने अब्दुल गनी के खाते में ही 4 लाख ट्रांसफर किए थे। पुलिस ने दोनों अभियुक्तों को आंध्र प्रदेश से गिरफ्तार कर चंदवाजी थाना लायी जहां दोनों को कोर्ट में पेश कर 5 दिन के रिमांड पर लिया है। बताया जा रहा है कि एक आरोपी ए अरुण कुमार रेड्डी बीटेक की पढाई पूरी कर लोगों से ठगी कर रहा था। आरापियों ने महाराष्ट्र और तेलंगाना समेत कई राज्यों में ठगी की वारदात को अंजाम दिया है। अन्य आरोपी टिकोला लक्ष्मी कैंसर की मरीज है जिसका स्वास्थ सहीं नहीे है इसी के चलते पुलिस ने उसे अभी गिरफ्तार नहीं किया है। पुलिस दोनों आरोपियों से पूछताछ कर गैंग के अन्य साथियों की तलाश कर रही है।

खबरें और भी हैं...