जयपुर में बच्चे ने रची किडनैपिंग की झूठी कहानी:ट्यूशन जाने के डर से 12 साल का स्टूडेंट मां से बोला- बदमाशों के हाथ पर दांत काटकर जान बचाई

जयपुर2 महीने पहले

जयपुर में ट्यूशन जाने के डर से एक 12 साल के बच्चे ने खुद के किडनैप होने की कहानी रच दी। बच्चे की कहानी सुनकर परिवार भी 3 घंटे दहशत में रहा। 100 नंबर पर फोन कर पुलिस को बच्चे के अपहरण की कोशिश की जानकारी दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने बच्चे से बात की। आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले तो पूरे मामले का खुलासा हुआ। मामला महावीर नगर का है।

पिता बाइक से छोड़ने गए थे
बच्चे के पिता प्रॉपर्टी डीलर हैं। रविवार दोपहर 12.45 बजे महावीर नगर स्थित वह अपने घर आए। बेटे को बाइक पर बैठाया और घर से करीब 500 मीटर दूर प्रजापत विहार ट्यूशन के लिए छोड़ आए। ट्यूशन सेंटर के बाहर बच्चा बाइक से नीचे उतर गया। उसके पिता को बाय बोला। फिर पिता काम से आगे निकल गए। बच्चा ट्यूशन में नहीं गया। कुछ देर रोड पर इंतजार किया। फिर घर की ओर चल दिया। बच्चा घर पर 2 बजे पहुंचा।

थोड़ी देर ट्यूशन सेंटर के आसपास ही घूमता रहा बच्चा। फिर भागकर घर पहुंचा।
थोड़ी देर ट्यूशन सेंटर के आसपास ही घूमता रहा बच्चा। फिर भागकर घर पहुंचा।

घर जल्दी आने का मां ने पूछा कारण
घर जल्दी पहुंचने पर मां ने बच्चे से कारण पूछा। यहीं उसने कहानी बना दी। मां से कहा कि बाइक सवार ने उसका अपहरण कर लिया था। उसके हाथ पर दांत काटकर वह अपनी जान बचाकर भागा है। यह बात सुनते ही पूरा परिवार दहशत में आ गया। मां ने फौरन उसके पिता को फोन किया। पिता घर आए तो उन्होंने 100 नंबर पर पुलिस को फोन कर दिया।

सीसीटीवी फुटेज से खुला राज
मुहाना थाना सीआई लखन खटाना ने बताया कि शाम करीब साढे 5 बजे पुलिस को जानकारी मिली। पुलिस ने करीब 30 मिनट तक इलाके के सीसीटीवी फुटेज खंगाले। इसके बाद हकीकत सामने आई। साफ हो गया कि अपहरण जैसी कोई वारदात नहीं हुई है।

पूछताछ में बच्चे ने बताया कि वह ट्यूशन नहीं जाना चाहता था। उसके परिजन उसको जबरदस्ती ट्यूशन भेज रहे थे। इसलिए पिता के ट्यूशन छोड़ने के कुछ देर बाद भागकर सीधे घर आ गया। घर आकर अपनी झूठी कहानी परिवारजनों को सुना दी। मां को बोला- बाइक सवार दो बदमाश उसे उठाकर ले जा रहे थे। उसने उनके हाथ पर दांतों से काट दिया। बचता हुआ घर पहुंचा।