कार्रवाई / आटा मिल में छिपाया गया 1312 किलो गांजा जब्त, प्रदेश भर में करते थे सप्लाई

1312 kg of hemp hidden in flour mill seized, supplied throughout the state
X
1312 kg of hemp hidden in flour mill seized, supplied throughout the state

  • बस्सी से पकड़े 6 तस्करों के खुलासे पर हुई कार्रवाई

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 07:46 AM IST

जयपुर. कमिश्नरेट की सीएसटी टीम ने ड्रग्स माफियाओं के भरतपुर स्थित गोदाम में दबिश देकर 1312 किलो गांजा बरामद कर लिया। तस्कर इस गोदाम से लगभग प्रदेश के सभी जिलों में छोटों तस्करों को गांजा सप्लाई कर रहे थे। आरोपियों आटा मील के नाम से यह गोदाम किराये पर ले रखा था। एडिशनल कमिश्नर अशोक कुमार गुप्ता ने बताया कि ऑपरेशन क्लीन स्वीप के तहत इंस्पेक्टर लखन खटाना व सुरेन्द्र यादव के नेतृत्व में गठित टीम को करीब एक सप्ताह पहले ओडिशा से गांजे से भरा पूरा ट्रक आने की सूचना मिली थी।

इस दौरान 27 जून को बस्सी टोल पर दो कारों में सवार तस्कर पंचमुखी उर्फ इन्द्रा, करण सांसी, सूरज बिडाया, अजय कुमार व पंकज यादव को 65 किलो गांजे के साथ गिरफ्तार किया था। जिनसे पूछताछ के बाद टीम भरतपुर पहुंच गई और मुख्य तस्कर रामवतार सिंह व भूपेन्द्र सिंह को नदबई से गिरफ्तार कर लिया। जिनके कब्जे से इंद्रा को बेचे गए गांजे के 6 लाख रुपए बरामद कर लिए।

भूपेन्द्र व रामवतार जीजा-साला है। इन दोनों से अलग-अलग पूछताछ की गई तो सामने आया कि ओडिशा व आंध्रा से गांजा लाकर गोदाम में खाली करवाते है। यहां से प्रदेश के अलग-अलग जिले में सप्लाई करने वाले छोटे तस्करों को बेचा जाता है। जब्त किए गए गांजे की कीमत करीब 2 करोड़ रुपए बताई जा रही है।

गिरफ्तार आरोपी भूपेन्द्र सिंह का मर्चेन्ट नेवी में सलेक्शन हुआ था, लेकिन गांजा तस्करी में मोटे मुनाफे के लालच में नौकरी ज्वांइन नही की।  उसके बाद जीजा रामवतार के साथ मिलकर भरतपुर के पास गोदाम किराये पर लेकर गांजा सप्लाई करता रहा। आरोपी 5 हजार रुपए किलो पर बचत निकालकर आस-पास के जिलों में हाइवे किनारे छोटे सप्लायर को खुद माल पहुंचाते है। गिरोह में शामिल महिला तस्कर लोगों से फ्रेंडशिप करके उन लोगों को अपनी टीम में तस्करी के लिए शामिल करवा लेती है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना