पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

‘वन नेशन वन राशन कार्ड’ योजना:काेराेना काल में 20 हजार से अधिक मजदूर परिवारों के 1.55 लाख लाेगाें काे मिला लाभ

जयपुर2 महीने पहलेलेखक: शिव प्रकाश शर्मा
  • कॉपी लिंक
योजना काे लागू करने में राजस्थान देशभर में 12वां राज्य था - Dainik Bhaskar
योजना काे लागू करने में राजस्थान देशभर में 12वां राज्य था
  • प्रदेश में फरवरी 2021 को लागू हुई थी योजना, योजना काे लागू करने में राजस्थान देशभर में 12वां राज्य था

काेराेना की दूसरी लहर में वन नेशन वन राशन कार्ड योजना से राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा में जुडे बाहरी राज्यों के 20 हजार से अधिक मजदूर परिवारों के करीब 1.55 लाख लाेगाें काे जयपुर में योजना का लाभ मिला है। योजना से जुड़ने के कारण परिवारों काे गत वर्ष की तरह इस बार अलग से राशन के किट वितरण नहीं करने पड़े। जिले में एनएफएसए में जुड़े करीब 31 लाख लाेगाें काे 14 हजार 500 मिट्रिक टन राशन का गेहूं हर माह वितरण किया जाता है।

गत वर्ष काेराेना संक्रमण काल के पहला लॉकडाउन शुरू हाेने पर दूसरे राज्यों में रहने वाले लाखाें मजदूरों के सामने राेटी का संकट खड़ा हाे गया था। मजदूरों के इस संकट काे ध्यान में रखकर केंद्र सरकार ने वन नेशन वन राशन कार्ड योजना की शुरूआत की।

कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा का कहना है कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा में जुडे परिवार जिले में कहीं भी अपनी सुविधा के अनुसार राशन डीलर के यहां अपना रजिस्ट्रेशन करवाकर राशन की खाद्य सामग्री प्राप्त कर सकता है। जिले में करीब 750 राशन डीलर हैं। इस बारे में आमजन की काेई शिकायत हाे ताे 0141-2204475-76 पर सूचना दी जा सकती है।

याेजना से जुड़ने वाला राजस्थान 12 वां राज्य

देश के एक राज्य से दूसरे राज्य में लाेग राेजी-राेटी कमाने वालाें के लिए एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना की शुरूआत की गई है। प्रदेश में फरवरी 2021 में यह योजना लागू हाे गई। योजना काे लागू करने में राजस्थान देशभर में 12 वां राज्य है। अब तक एमपी, यूपी, गाेवा, गुजरात, हरियाणा, तेलंगाना, केरल, त्रिपुरा, कर्नाटक, तमिलनाडु में यह योजना लागू हाे चुकी। योजना में लाभार्थियों के आधार कार्ड नंबर काे उनके राशन कार्ड से लिंक करने के साथ राशन डीलर की पीअाेएस में जाेड दिया गया।

वन नेशन-वन राशनकार्ड सिस्टम के फायदे : योग्य लाभार्थियों की पहचान करने के साथ नकली, डुप्लीकेट या अयोग्य कार्डधारकों की भी पहचान करना आसान हो गया। लाभार्थियों का आधार कार्ड राशनकार्ड से लिंक कर दिया। इसके बाद बॉयोमीट्रिक के जरिये लाभार्थियों को उनके कोटा का अनाज मुहैया कराया जा रहा है।

जिले में राशन कार्ड धारियों की फैक्ट फाइल

  • जिले में कुल राशन कार्ड धारक परिवार 19 लाख 00141 हजार
  • राशन कार्ड में परिवार के सदस्य 73 लाख 27 हजार
  • जिले में नाॅन एनएफएसए राशन कार्ड धारक
  • नाॅन एनएफएसए राशन कार्ड 11 लाख 34 हजार 191
  • नाॅन एनएफएसए जनसंख्या 41 लाख 90 हजार 554
  • एनएफएसए राशन कार्ड धारक 7 लाख 65 हजार 950
  • एनएफएसए राशन कार्ड सदस्य 31 लाख 36 हजार 950
  • जयपुर शहर में कुल राशन कार्ड धारक परिवार 8 लाख 81 हजार 480
  • राशन कार्ड में जुडे सदस्य 33 लाख 10 हजार 631
  • एनएफएसए में जुडे परिवार
  • कुल राशन कार्ड धारक परिवार 1 लाख 36 हजार
  • राशन कार्ड में जुडे सदस्य 5 लाख 27 हजार
खबरें और भी हैं...