164 यात्रियों को सिर्फ सलाह आप घर में रहो:शारजाह की फ्लाइट से 165 यात्री जयपुर पहुंचे, रैंडम जांच में 1 यात्री पॉजिटिव मिला

जयपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फ्लाइट से आए सिर्फ एक यात्री का रेपिड आरटी-पीसीआर टेस्ट किया गया। टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव आया। - Dainik Bhaskar
फ्लाइट से आए सिर्फ एक यात्री का रेपिड आरटी-पीसीआर टेस्ट किया गया। टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव आया।

जयपुर एयरपोर्ट पर सोमवार को कोरोना पॉजिटिव यात्री के मिलने से हड़कंप मच गया। यात्री को तत्काल आरयूएचएस में भर्ती कराया गया। एयर अरबिया की फ्लाइट सोमवार को अल सुबह 3:35 बजे शारजाह से जयपुर पहुंची। फ्लाइट से 165 यात्री जयपुर आए थे। फ्लाइट से आए सिर्फ एक यात्री का रेपिड आरटी-पीसीआर टेस्ट किया गया। टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव आया।

इसके बाद एयरपोर्ट प्रशासन और एयरलाइंस स्टाफ में अफरा-तफरी मच गई। उसे आइसोलेट किया गया और आरयूएचएस भेजा गया। यात्री को कोराना पॉजिटिव होने की जानकारी मिलते ही अन्य यात्री भी घबरा गए। हालांक एयरपोर्ट प्रशासन और एयरलाइंस स्टाफ द्वारा 164 यात्रियों को सिर्फ क्वारेंटाइन होने की सलाह दी गई। गौरतलब है कि जयपुर एयरपोर्ट पर 1 दिसंबर से कई नए बदलाव हुए हैं।

इसमें अलग-अलग देशों के यात्रियों के आरटी-पीसीआर जांच के लिए 5 फीसदी सैम्पल लिए जाने के निर्देश थे। नियमों में 4 दिसंबर को बदलाव किया गया। इसके तहत निर्देश दिए गए कि अब रेड जोन में शामिल 9 देश यूके, साउथ अफ्रीका, ब्राजील, बोत्सवाना, बांग्लादेश, चाइना, मॉरीशस, न्यूजीलैंड और जिम्बाब्वे से आए हुए सभी यात्रियों की आरटी-पीसीआर जांच की जाएगी।

विदेश से आने वाले यात्रियों में अभी सिर्फ 5 फीसदी की ही जांच हो रही
जयपुर से शारजाह, दुबई, मस्कट और आने में दोहा, दुबई, शारजाह और मस्कट की कुल 9 फ्लाइट संचालित होती हैं। प्रत्येक फ्लाइट से 150 यात्रियों का आवागमन होता है। 1 दिसंबर से विदेशों से आने वाली फ्लाइट्स के 5 फीसदी यात्रियों की कोरोना जांच होनी थी। 4 दिसंबर को रेड जोन वाले 9 देशों से आने वाली फ्लाइट्स के सभी यात्रियों के लिए अनिवार्य कर दिया गया। 6 दिन में 32 यात्रियों की जांच की गई।

यह लापरवाही भारी पड़ेगी-एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन पर जांच में कोई सख्ती नहीं
जयपुर स्टेशन पर यात्रीभार 30 हजार, 2 काउंटर, लेकिन स्टाफ नहीं... जयपुर स्टेशन पर रोज 109 ट्रेनों से 30 हजार यात्री आते हैं। यहां मेन एग्जिट गेट पर 1 काउंटर था। पिछले दिनों हसनपुरा स्थित सैकंड एंट्री पर भी 1 काउंटर बना दिया गया।

यहां तैनात मेडिकल स्टाफ सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक ही रहता है। ऐसे में रैंडम 50 यात्रियों की जांच की जाती है। डायरेक्टर जीसी गुप्ता ने एसएस डीएल तनेजा, गोपाल सिंह, आईपीएफ नरेश यादव, डीसीटीआई राजेंद्र शर्मा, सीटीआई समीर शर्मा, सीएमआई मुकेश माथुर से व्यवस्था करने को कहा है।

खबरें और भी हैं...