• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • 20 CCTV Place In Jaipur Now Challan Will Be Deducted For Violating Traffic Rules, Police Will Monitor The Movement Of Vehicles From The Traffic Control Room

जयपुर में दो आदर्श चौराहों पर लगे 20 CCTV:ट्रेफिक नियमों का उल्लंघन करने पर वाहन का कटेगा चालान, कंट्रोल रुम से वाहनों की आवाजाही पर निगरानी रखेगी पुलिस

जयपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर में दो बड़े आदर्श चौराहों पर 20 CCTV लगाए गए है। इससे वाहनों के आवागमन के अलावा अपराधियों पर भी निगरानी रखी जा सकेगी। - Dainik Bhaskar
जयपुर में दो बड़े आदर्श चौराहों पर 20 CCTV लगाए गए है। इससे वाहनों के आवागमन के अलावा अपराधियों पर भी निगरानी रखी जा सकेगी।

राजधानी जयपुर में यातायात नियमों की पालना और दुर्घटनाओं में रोकथाम के लिहाज से वाहनों की आवाजाही पर निगरानी करने के लिहाज से 20 CCTV लगाए गए है। बुधवार को राजस्थान पुलिस के डीजीपी रहे कपिल गर्ग ने अजमेरी गेट स्थित ट्रेफिक पुलिस कंट्रोल रुम में इन कैमरों के संचालन का शुभारंभ किया।

पुलिस उपायुक्त यातायात श्वेता धनकड़ ने कहा कि जयपुर में गुर्जर की थड़ी और 200 फीट बाईपास आदर्श चौराहे है। जहां ये 20 कैमरे लगाए गए है। इनमें एक चौराहे पर 11 और दूसरे पर 9 कैमरे लगे है। जिनमें से 8 कैमरे पीटीजेड (घूमने वाले) एवं 12 कैमरे 4K रेजोलेशन फिक्स बुलेट है। इनसे वाहनों की नम्बर प्लेट अच्छी तरह से पढ़ सकते है। साथ ही, इससे क्राइम कंट्रोल में भी मदद मिलेगी। इसके अलावा ट्रेफिक नियमों का उल्लंघन करने पर वाहन चालक कैमरे की नजर में आ जायेंगे। इससे उनके खिलाफ चालान कार्रवाई की जाएगी। घर बैठे ही चालान भेज दिया जाएगा।

सीसीटीवी के संचालन का शुभारंभ करते पूर्व डीजीपी कपिल गर्ग व अन्य अफसर
सीसीटीवी के संचालन का शुभारंभ करते पूर्व डीजीपी कपिल गर्ग व अन्य अफसर

ट्रेफिक पुलिस अधिकारी मोबाइल फोन पर भी देख सकेंगे वाहनों की गतिविधि
अतिरिक्त पुलिस कमिश्नर राहुल प्रकाश ने कहा कि जयपुर में अभय कमाण्ड सेंटर की तरफ से पूरे शहर में 700 कैमरों का जाल बिछा हुआ है। लेकिन कई चौराहों पर उच्च गुणवत्ता के कैमरों की आवश्यकता होती है। श्रीराम जनरल इंश्योरेंस कंपनी के सहयोग से दोनों आदर्श चौराहों पर ये 20 कैमरे लगाए गए है। ये यातायात और बदमाशों की धरपकड़ के लिए भी ये दोनों चौराहे है। इसका नियंत्रण कंट्रोल रूम से किया जा सकेगा। इसके अलावा ट्रेफिक पुलिस के अधिकारी मोबाइल पर भी इसका व्यू देख सकेंगे।

पूर्व पुलिस महानिदेशक कपिल गर्ग ने कहा कि कैमरे लगाने से दुर्घटनाओं में कमी आयेगी एवं आपराधिक गतिविधियों पर भी रोक लगेगी। जयपुर दुर्घटनाओं की दृष्टि से असुरक्षित है। कम्पनी का सड़क सुरक्षा की तरफ रूझान रहता है। हमारी अपेक्षा है कि लोग खुद ब खुद यातायात नियमों की पालना करें।

खबरें और भी हैं...