जल जीवन मिशन:राजस्थान में पानी के 37 हजार 283 सैंपल की जांच, 11 हजार से ज्यादा सैंपलों में पाया ‘अशुद्ध’ पेयजल

जयपुरएक वर्ष पहलेलेखक: श्याम राज शर्मा
  • कॉपी लिंक
प्रदेश में पेयजल सप्लाई हो रहे पानी में से करीब 30 प्रतिशत नलों में अशुद्ध पानी मिल रहा है। - Dainik Bhaskar
प्रदेश में पेयजल सप्लाई हो रहे पानी में से करीब 30 प्रतिशत नलों में अशुद्ध पानी मिल रहा है।

प्रदेश में पेयजल सप्लाई हो रहे पानी में से करीब 30 प्रतिशत नलों में अशुद्ध पानी मिल रहा है। केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय ने जल जीवन मिशन में प्रदेश में 37 हजार 283 सैंपल की जांच की है। इसमें से 11 हजार 61 सैंपलों में अशुद्ध पेयजल मिला है। यह सैंपल 54 प्रयोगशालाओं में जांच किए गए है। अशुद्ध सैंपल होने पर 174 मामलों में एक्शन लिया गया है। पेयजल सैंपल की जांच का प्रोग्राम जल जीवन मिशन (जेजेएम) में किया जा रहा है। ताकि नलों के जरिए घरों तक स्वच्छ व पर्याप्त पेयजल मिल सके। इसके लिए हर ग्राम पंचायत स्तर पर टेस्टिंग किट भी दिए हैं।

जल शक्ति मंत्रालय के कार्यक्रम में जुटाए गए आंकड़ों में पानी में रसायन व मिनरल जैसे ऑर्सेनिक, फ्लोराइड, आयरन व यूरेनियम सहित अन्य अशुद्धियां मिली है। रिपोर्ट में कहा गया है कि जल स्त्रोत के निकट भारी धातु की प्रोडक्ट यूनिट के कारण भी जल में अशुद्धियां हो सकती है। अगर पानी का सैंपल क्वालिटी जांच में खरा नहीं उतरता है तो इसको लेकर अधिकारियों को ऑनलाइन जानकारी दी जा रही है। इसके बाद वहां पर शुद्ध पेयजल का इंतजाम किया जा रहा है।

इंजीनियर फील्ड विजिट के दौरान जांचेंगे पानी के सैंपल
जलदाय विभाग के एसीएस सुधांश पंत ने फील्ड विजिट के दौरान इंजीनियरों को पेयजल क्वालिटी की नियमित जांच करने के निर्देश दिए थे। इसके लिए हर इंजीनियर को फील्ड टेस्टिंग किट साथ रखने के निर्देश दिए है। इसके साथ ही ग्राम जल व स्वच्छता समितियों के सदस्यों को भी किट दिए जा रहे है। पेयजल सप्लाई की क्वालिटी बेहतर रखी जा सके, जिससे सबको शुद्ध पेयजल मिल सके।

हर घर नल कनेक्शन, जेजेएम में मिले 9.26 लाख कनेक्शन
राज्य में 11 लाख 74 हजार 131 ग्रामीण परिवारों को हर घर नल कनेक्शन की सुविधा मिल रही थी। वर्तमान राज्य सरकार के कार्यकाल में अगस्त 2019 में जेजेएम की शुरूआत के बाद से अब तक 9 लाख 26 हजार 858 ग्रामीण परिवारों को हर घर नल कनेक्शन मिल गया है। प्रदेश के एक करोड़ एक लाख 32 हजार 274 परिवारों में से 21 लाख 989 परिवारों को घर बैठे नल के माध्यम से पेयजल सप्लाई से जोड़ा है।

देशभर में 10 फीसदी सैंपल मिले असंतोषजनक

  • 13 लाख से अधिक नमूनों की जांच में 1.11 लाख से अधिक सैंपल अशुद्ध पाए गए है, देशभर में सरकारी कार्यक्रम के तहत पेयजल के।
  • अब तक 2 लाख 5 हजार 941 गांवों के पानी के सैंपल 2 हजार लैब में जांचे गए है।

सैंपल जांच की फैक्ट फाइल
लैब-54
सैंपल मिल-59,950
सैंपल टेस्ट-37,283
सैंपलों में अशुद्ध पानी-11,061
सैंपलों में एक्शन-174