• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • 40 Years...8 Institutions On 'deputation'; Incomplete On Many Criteria ... Medical Department Said We Are Not Responsible

किसी भी स्थायी पद पर भर्ती नहीं हो रही:40 साल, 8 संस्थान ‘डेपुटेशन’ पर; कई मानदंड पर अधूरे, चिकित्सा विभाग ने कहा- हम जिम्मेदार नहीं

जयपुर11 दिन पहलेलेखक: सुरेन्द्र स्वामी
  • कॉपी लिंक
सरकार की ओर से संचालित नर्सिंग शिक्षा का हाल बहुत खराब है। - Dainik Bhaskar
सरकार की ओर से संचालित नर्सिंग शिक्षा का हाल बहुत खराब है।

सरकार की ओर से संचालित नर्सिंग शिक्षा का हाल बहुत खराब है। एसएमएस कॉलेज ऑफ नर्सिंग जयपुर को छोड़कर सेल्फ फाइनेंस स्कीम के तहत संचालित 8 संस्थानों को डेपुटेशन वाले स्टाफ के हवाले कर रखा है। लापरवाही का आलम यह है कि आज तक किसी भी संस्थान में प्राचार्य, उपप्राचार्य, प्रोफेसर, एसोसिएट, असिस्टेंट प्रोफेसर के पद ही सृजित नहीं हैं।

पिछले 40 साल से पदों पर भर्ती नहीं कर विद्यार्थियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। संस्थानों में नर्सेज स्टाफ को पदों के विरुद्ध लगा रखा है। जबकि कोर्स करने वाले विद्यार्थी हर साल 20 से 40 हजार रुपए फीस दे रहे हैं। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि सरकार संस्थानों में पदों पर भर्ती क्यों नहीं कर रही? जबकि इंडियन नर्सिंग काउंसिल के मापदंडों पर खरे नहीं उतरने से मान्यता का खतरा तक मंडरा रहा है।

असर: शिक्षा की गुणवत्ता से लेकर रिसर्च तक सब प्रभावित

1. योग्य स्टाफ नहीं होने से शिक्षा की गुणवत्ता पर सवाल।
2. हर साल 20 से 40 हजार रुपए फीस के बावजूद पद सृजित नहीं, विद्यार्थी निराश।
3. रिसर्च प्रभावित, अस्पतालों में मरीजों की सेवा पर असर।

चिकित्सा शिक्षा विभाग बना दिया, भर्ती क्यों नहीं?
वर्ष-2012 में राज्य के समस्त सरकारी नर्सिंग संस्थानों के प्रशासनिक एवं वित्तीय नियंत्रण के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य (ग्रुप-3) विभाग के स्थान पर चिकित्सा शिक्षा (ग्रुप-1) विभाग के आदेश किए जा चुके हैं। इसके बावजूद पदों पर अब तक भर्ती नहीं की गई है। इधर, मेडिकल शिक्षा विभाग के अधिकारी यह कहकर पल्ला झाड़ रहे हैं कि यह काम चिकित्सा एवं स्वास्थ्य (ग्रुप-3) के अधीन आता है।

नर्सिंग संस्थानों में भर्ती प्रक्रिया जारी
नर्सिंग संस्थानों में पदों पर नियुक्ति करने का काम चिकित्सा एवं स्वास्थ्य (ग्रुप-3) के अधीन आता है। वर्ष 2021-22 में बजट घोषणा के अनुसार खुलने वाले नर्सिंग संस्थानों और पदों पर भर्ती की प्रक्रिया जारी है। हमारी कोशिश है कि जल्द से जल्द से इसे पूरा किया जाए। सरकार को इस बारे में अवगत करा दिया है। - शिवांगी स्वर्णकार, आयुक्त, मेडिकल शिक्षा

खबरें और भी हैं...