पश्चिम से ज्यादा गर्म पूरब:जयपुर में 5 साल का रिकॉर्ड टूटा, पारा 45.6 डिग्री पहुंचा धौलपुर 48.5°, गंगानगर 48.3°, बीकानेर 48.2°

जयपुर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गर्मी के रेड अलर्ट के बाद चूरू की सड़कों पर पानी का छिड़काव करती नगर परिषद की फायर बिग्रेड। - Dainik Bhaskar
गर्मी के रेड अलर्ट के बाद चूरू की सड़कों पर पानी का छिड़काव करती नगर परिषद की फायर बिग्रेड।

प्रदेश में सूरज की तरह इस बार गर्मी भी पूरब से चरम पर है। पूर्वी राजस्थान में धाैलपुर 48.5 डिग्री के साथ प्रदेश का सबसे गर्म शहर रहा। इसके अलावा श्रीगंगानगर में 48.3 डिग्री व बीकानेर में 48.2 डिग्री रहा। यानी 3 शहराें में पहली बार पारा 48 डिग्री के पार गया।

वहीं, जयपुर की बात करें तो इस बार मई की गर्मी ने 5 साल का रिकाॅर्ड ताेड़ दिया है। यहां दिन का पारा 45.6 डिग्री रहा। इससे पहले 19 मई 2016 को यहां दिन का पारा 46.5 पहुंचा था। पिछले साल तो यहां पारा 42.6 डिग्री के पार गया ही नहीं। मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार, प्रदेश में अन्य 8 शहराें में तापमान 47 डिग्री रहा। इससे िदनभर लू चलती रही। माैसम विभाग के अनुसार अगले चाैबीस घंटे तक हीट वेव का असर रहेगा, इसके बाद पारे में हल्की गिरावट हाेने से गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद है।

एक हफ्ते पहले मानसून की एंट्री के आसार
माैसम केन्द्र दिल्ली से इस बार दक्षिणी-पश्चिमी मानसून के केरल में 27 मई तक आने की संभावना जताई है। केरल में मानसून की एंट्री के बाद इसे राजस्थान में पहुंचने तक करीब 3 हफ्ते लगते हैं। कंडीशन फेवरेबल रही ताे राजस्थान में मानसून इस बार एक हफ्ते पहले यानी 17-20 जून तक एंट्री कर सकता है। जयपुर मौसम केंद्र के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया- केरल में मानसून 27 मई को आ सकता है। मानसून के आने की निर्भरता उस समय की वातावरण और हवाओं की स्थिति पर रहती है।

8 शहरों में पारा 47 डिग्री से अधिक रहा
शहर - अधिकतम पारा
धाैलपुर - 48.5
श्रीगंगानगर - 48.3
बीकानेर - 48.2
हनुमानगढ़ - 47.8
कराैली - 47.9
पिलानी - 47.3
अलवर - 47.3
जैसलमेर - 47.4
चूरू - 47.5
नागाैर - 47.0
जयपुर - 45.6

खबरें और भी हैं...