डिस्कॉम्स के फैसले से बड़ी राहत:पूर्व के नियमों से ही 5000 कर्मियों का होगा प्रमोशन

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जयपुर, जोधपुर व अजमेर डिस्कॉम में टेक्निकल कैडर के 5 हजार कर्मचारियों का पूर्व नियमों से ही प्रमोशन होगा। पहले अनुभव नियमों को लेकर वित्त विभाग ने आपत्ति जता दी थी, लेकिन जयपुर डिस्कॉम के एमडी नवीन अरोड़ा और मुख्य कार्मिक अधिकारी राकेश शर्मा की एनालिसिस के बाद सरकार ने स्वीकृति दे दी। इससे एक हजार कर्मचारियों के रिवर्ट होने का खतरा भी टल गया है।

प्रमोशन व अनुभव नियमों के विवाद के कारण दो साल से टेक्निकल कर्मचारियों का प्रमोशन नहीं हो पा रहा था। सीपीओ राकेश शर्मा का कहना है प्रमोशन को लेकर आदेश मिल गया है। जोनल चीफ इंजीनियर्स व अधीक्षण अभियंताओं को वरिष्ठता सूची के अनुसार प्रमोशन करने के निर्देश दे दिए हैं।

इंजीनियरिंग सुपरवाइजर की मांग-जल्द प्रमोशन हो
राजस्थान मीटर रीडर्स एंड एम्पलाइज यूनियन के कार्यकारी अध्यक्ष दिनेश शर्मा का कहना है मीटर इंस्पेक्टर 1994 से नौकरी कर रहे हैं, जबकि दूसरे कैडर के कर्मचारियों को प्रमोशन दे दिया, जिनकी भर्ती 2007 के बाद हुई है। जयपुर में 2019 के बाद इंजीनियरिंग सुपरवाइजर पोस्ट पर प्रमोशन नहीं हुआ।

ईएस के लिए इलेक्ट्रीशियन प्रथम, सब स्टेशन अटेंडेंट प्रथम, लाइनमैन प्रथम, मीटर इंस्पेक्टर प्रथम की कैडर वार सीनियारिटी लिस्ट बनाकर हर कैडर के समान तौर पर कर्मचारियों को प्रमोशन मिलना चाहिए। दो साल से प्रमोशन नहीं होने से कर्मचारियों में हताशा है।

खबरें और भी हैं...