पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • 6 Lakh Cheated From The Relative Of The Same Jailer In Which He Was Lodged, From CM Gehlot's Son To Many MLAs And IPS Of Rajasthan Have Also Become Victims.

देखिए- राजस्थान का सबसे शातिर महाठग!:गहलोत के बेटे के नाम से निकलवाई AUDI; जेल में बंद था तो जेलर के रिश्तेदार से 6 लाख रु. ठगे, लोगों की हूबहू आवाज निकाल लेता है 8वीं पास भेराराम

जयपुर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राजस्थान में सबसे शातिर ठग पकड़ा गया है। यह SP, MLA समेत मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव के नाम से भी ठगी कर चुका है। राज्य के 16 जिलों में लोगों को अपना शिकार बना चुका महाठग भेराराम जिस जेल में रहा, उसके जेलर के रिश्तेदार से भी छह लाख रुपए की धोखधड़ी कर चुका है। हाल ही में इसने जयपुर में SHO बनकर एक ज्वेलर से 3.5 लाख रुपए ठगे।

सुरेश घांची उर्फ भेरिया उर्फ भेराराम राजस्थान सहित मध्यप्रदेश और गुजरात के विधायकों, व्यापारियों और पुलिस अधिकारियों को ठग चुका है। दैनिक भास्कर ने इसका क्राइम रिकॉर्ड निकाला तो कई चौंकाने वाली बातें सामने आई। पाली जिले के रजतनगर का रहने वाला भेराराम सिर्फ आठवीं पास है और लोगों की हुबहू आवाज कॉपी कर लेता है। पुलिसकर्मी भी इसके सामने कुछ भी बोलने से कतराते हैं।

इंदौर के भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे से भी रुपए मांग चुका है। यह कभी SP तो कभी MLA बनकर बडे-बड़े बिजनेसमैन से बीमारी का बहाना बनाकर रुपए ऐंठता है। इसके खिलाफ 60 से ज्यादा ठगी के मामले पुलिस रिकॉर्ड में दर्ज हैं।

भेराराम पुलिस अधिकारियों के नाम पर नीचे स्तर के पुलिसकर्मियों को कॉल कर केस में फाइल जांच बदलवा लेता है। साथ ही लोगों से भी केस में मदद के नाम पर रुपए लेता है। पकड़े जाने के बाद जेल से बाहर आते ही फिर से यही काम करने लगता है। 15 दिन पहले ही जेल से छूट कर आने के बाद जयपुर के ज्वेलर से 3.50 लाख रुपए माणक चौक SHO बनकर खाते में डलवा लिए थे। ज्वेलर ने SHO से रुपए मांगे तो पूरे खेल का पर्दाफाश हुआ। फिलहाल, पुलिस ने इसे 5 दिन के रिमांड पर ले रखा है। इसे पाली व जोधपुर में पुलिस जांच करने लेकर गई है।

जुए की लत ने बनाया शातिर ठग
सुरेश के खिलाफ पहला मामला 2006 में सामने आया था। जुए की लत को पूरा करने के लिए छोटी-छोटी चोरियां करने लगा था। बाद में ठगी करने लग गया था। 15 साल में सुरेश ने राजस्थान में 16 जिलों में 60 ठगी कर डाली थी। सबसे ज्यादा पाली, जयपुर, जोधपुर, कोटा, अजमेर, कोटा, बीकानेर, सिरोही, चितौडगढ़, सीकर, चूरू, बाडमेर, गंगानगर, बाडमेर, हनुमानगढ़, राजसमंद में दर्ज है।

पढ़िए- भेराराम के कारनामे

पाली SP बनकर चितौडगढ़ MLA से मांगे 10 लाख
चितौड़गढ़ के विधायक चंद्रभान सिंह को पाली SP दीपक भार्गव बनकर कॉल कर दिया। SP की आवाज में बात करके उसने बोला कि मेरे एक रिश्तेदार जयपुर के अमेरिकन अस्पताल में भर्ती है। उनके इलाज के लिए 10 लाख रुपए चाहिए। MLA ने रुपयों की व्यवस्था कर ली। बाद में SP को रुपए भेजने की बात पूछीं तो पता लगा उन्होंने कोई फोन नहीं किया, फिर पूरे मामले का खुलासा हुआ। विधायक ठगी होने से बच गए थे। तब सुरेश को गिरफ्तार कर लिया था।

CM गहलोत का बेटा बनकर शोरूम मालिक को ठगा
सुरेश ने सितम्बर 2019 में जोधपुर के ऑडी शोरूम मालिक को फोन कर बोला कि मैं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बेटा वैभव बोल रहा हूं। मेरे एक पहचान वाले शोरूम आ रहे है। उन्हें एक ऑडी कार दे देना। सुरेश शोरूम में गया और मैनेजर को 50.75 लाख का चेक देकर गाड़ी लेकर चला गया। बाद में चेक बाउंस हो गया तो उन्होंने वैभव गहलोत को फोन किया, तब पता लगा कि उन्होंने कोई कॉल नहीं किया। ऐसे ही पाली के पूर्व विधायक भीमराज भाटी की आवाज निकाल दो गाड़ी शोरूम से ले गया था।

इंदौर SP बनकर BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे से मांगे 10 लाख
सुरेश ने जनवरी 2020 में इंदौर SP की आवाज बनाकर भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय को फोन किया था। वह भी विधायक है। उन्हें फोन करके बोला कि मेरे परिजन के इलाज के लिए 10 लाख रुपए की जरूरत है। खाता नंबर दे रहा हूं, उनके खाते में जल्दी रुपए जमा करवा दें। मामले का खुलासा हुआ तो सुरेश पकड़ा गया।

जेलर की आवाज बदलकर 6 लाख रुपए ठगे
सुरेश पाली जेल में ठगी के मामले में बंद था। वह बंदियों से मुलाकात के दौरान जेल अधीक्षक से मिला। उसने हूबहू अधीक्षक की आवाज कॉपी कर ली। इसके बाद पाली जेल अधीक्षक के नाम से फोन कर उनके रिश्तेदार से 6 लाख रुपए मांग लिए। खुद के बैंक खाते में रुपए जमा करवा लिए थे। बाद में जेल अधीक्षक को इसका पता लगा तो पूरे मामले का खुलासा हुआ।

जोधपुर रेंज IG, पाली SP और जालौर ASP के नाम से ठगी
भेरिया बहुत शातिर है। यह एक बार किसी से मिलता है तो उसकी आवाज कॉपी कर लेता है। बाद में उसकी डिटेल लेकर उनके रिश्तेदारों व बडे बिजनेसमैन को कॉल कर रुपए मांगता है। माउंटआबू में मजिस्ट्रेट के नाम से 6 लाख रुपए ठग चुका है। इसके अलावा जोधपुर के रेंज IG, पाली SP, जालौर के ASP के नाम से रुपए ले चुका है।

ये भी पढ़ें...

मिमिक्री कर ठगने वाला 8वीं पास:राजनेताओं और अधिकारियों की आवाज निकालकर व्यापारियों से करोड़ों ठगे, 100 से ज्यादा लोगों को बना चुका शिकार

खबरें और भी हैं...