पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ग्रीनफील्ड अलाॅटमेंट लिंक रोड:दिल्ली-वड़ोदरा एक्सप्रेस-वे के लिए जयपुर बांदीकुई के बीच 6 लेन लिंक रोड बनेगी

जयपुर10 दिन पहलेलेखक: शिव प्रकाश शर्मा/नरेश वशिष्ठ
  • कॉपी लिंक
सड़क परिवहन मंत्रालय की मंजूरी के बाद भूमि अवाप्ति। - Dainik Bhaskar
सड़क परिवहन मंत्रालय की मंजूरी के बाद भूमि अवाप्ति।

दिल्ली-वड़ोदरा एक्सप्रेस-वे का लाभ राजधानी काे देने के लिए जयपुर से बांदीकुई के बीच 6 लेन लिंक रोड बनाई जाएगी। इस लिंक रोड के बनने से जयपुर सहित आसपास के जिलों काे मुंबई, इंदाैर, भाेपाल व उज्जैन के लिए अत्याधुनिक हाईवे मिल सकेगा।

दिल्ली-वड़ोदरा एक्सप्रेस को जयपुर से जोड़ने के लिए बांदीकुई से जयपुर के बीच में छह लेन की ग्रीनफील्ड अलाॅटमेंट लिंक रोड बनाने के लिए हाईवे अथॉरिटी ने प्रारूप तैयार कर लिया है और भूमि अवाप्ति के लिए जयपुर जिला प्रशासन काे सौंपा है। 70 किमी की लिंक रोड जयपुर में आगरा रोड पर बनने वाली रिंग रोड से जोड़ी जाएगी।

इस बारे में एनएचएआई के सीजीएम एमके जैन का कहना है लिंक राेड की ऊंचाई 10 से 20 फीट के आस-पास हाेगी ताकि हाईवे पर जानवर नहीं आ सकें और दुर्घटनाएं भी कम हों। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय से मंजूरी के बाद जिला प्रशासन को जयपुर, दौसा और उपखंड अधिकारी बांदीकुई को भूमि अवाप्ति के ड्राफ्ट का अनुमोदन करके मंत्रालय को भेजना है। ड्राफ्ट के अनुमोदन के बाद भूमि अवाप्ति की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। नेशनल हाइवेज की घोषणा के साथ ही 6 लेन का निर्माण शुरू होगा। डीपीआर नोएडा की मै. एसके इंफ्रा तैयार कर रही है।

जयपुर और दौसा के 85 गांवों से होकर गुजरेगी रोड, 70 किमी की दूरी में तीन जगह होंगे टोल प्लाजा सड़क बनने से मुंबई, इंदाैर, भाेपाल तथा उज्जैन की दूरी 105 किमी कम होगी और 2 घंटे भी बचेंगें
जयपुर और दौसा के 85 गांवों से होकर गुजरेगी रोड, 70 किमी की दूरी में तीन जगह होंगे टोल प्लाजा सड़क बनने से मुंबई, इंदाैर, भाेपाल तथा उज्जैन की दूरी 105 किमी कम होगी और 2 घंटे भी बचेंगें

70 किमी की यह लिंक रोड जयपुर-आगरा पर बनने वाली रिंग रोड से जोड़ी जाएगी

लिंक रोड जयपुर और दौसा के 85 गांवों से होकर गुजरेगी। इसमें जयपुर के 40 और दौसा के 45 गांव शामिल हैं। इन गांवों की जमीन अवाप्ति की प्रक्रिया जल्द ही शुरू की जाएगी। तीन जगह से इस लिंक रोड पर वाहन चढ़-उतर सकेंगे। पहला चढ़ाव जयपुर में आगरा रोड पर बनने वाली रिंग रोड से नेशनल हाईवे 11ए पर खुरी खुर्द के पास और अंतिम बसवा में द्वारापुरा गांव के पास बनाया जाएगा।

इंदाैर, भाेपाल व दिल्ली का सफर आसान होगा
दिल्ली-वड़ोदरा हाईवे से जयपुर व आसपास के जिलों काे दिल्ली के साथ-साथ इंदाैर, भोपाल और उज्जैन के लिए सीधी कनेक्टिविटी मिलेगी। अभी तक इंदाैर, भाेपाल और उज्जैन के लिए काेटा, झालावाड़ हाेकर जाना पड़ता है। लिंक रोड से करीब दाे घंटे की बचत होगी और 105 किलोमीटर की दूरी भी कम हाेगी।

इन 85 गांवों से होकर गुजरेगी सड़क

जयपुर मालपुराचौड़, विजयपुरा, बगराना, जमवारामगढ़- कानडियावाला, डोडा डूंगर, झोल, गुढा-बास नेवर, लालवास, भानपुर खुर्द, सुंदरपुरा, खेरवास नेवर, मकसूदापुरा, बूज, मानोता, खतेहपुरा, बाढ बूज, धूलारावजी।
बस्सी हर चंदपुरा बाल्यवाला, विजय मुकुंदपुर हीरावाला, हरध्यानपुरा, गीला की नांगल, कुंथाडार्खुद, कंथडाकला, चकघाटी, सेवापुरा, खो-घाटी, घाटा, हरडी, किशनपुरा, पडासोली, बोरई, पैपुरा, नांगल वोहरा, वडवा, रामजीपुरा, बाढस्वामी, हीरावाला, हरचंदपुरा, पेईपुरा।
बसवा चक सोमाडा, प्रतापपुरा, मीतरवाडी, बास गुढलिया, देलाडी, गादरवाडा, मोराडी, पीचूपाड़ा खुर्द, दारापुरा, सुमेलकलां, रामपुरा, श्यामसिंहपुरा, सोमाडा, मानोता, गुढलिया, कोलवा, नानगवाडा, तिगड्डा, भांवती।
दौसा धर्मपुरा, कंडल, सिंडोली, तलवाड़ा, भेडोली, कालोता, खोहरा कंला, दांतली, काली पहाड़ी, पुरोहितों का बास, सिंहपुरा, होदायाली, बाढ छांगला, बापी, ढाय, चांदराना, मालपुरा, सीतापुरा, खुरीकंला, खुदीखुर्द, जसोना, बनेठा, महेशवर कलां, नांगल बेरसी, जामा।

  • पूरा प्रस्ताव बना कर सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय को भिजवा दिया गया है। मंत्रालय से स्वीकृति मिलने के बाद भूमि अवाप्ति की प्रक्रिया के साथ टेंडर प्रक्रिया भी शुरू की जाएगी। हाईवे स्वीकृति मिलने के दो साल में तैयार हो जाएगा। - सही राम, परियोजना निदेशक, भाराराप्रा, पकाई दौसा

भूमि अवाप्ति का काम देख रहे कलेक्ट्रेट में एडीएम तृतीय राजेंद्र कविया का कहना है जिन काश्तकारों की भूमि से हाईवे निकलेगा उसका अथॉरिटी ने प्रारूप भेज दिया है। जहां से राेड निकलेगी वहां के रिकार्ड की जांच हो रही है। बस्सी व बांदीकुई, दौसा तहसीलदार काे भूमि अवाप्ति अधिकारी बनाया है।

खबरें और भी हैं...