पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कृषि:17 जिलों के 7.5 लाख किसानों को सर्द रातों में ही करनी पड़ेगी कृषि सिंचाई

जयपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रदेश के 17 जिलों के सात लाख 50 हजार से ज्यादा किसानों को इस बार रबी फसल की सिंचाई भी सर्द रात में ही करनी पड़ेगी। ऊर्जा मंत्री के आदेश के बावजूद जयपुर, जोधपुर व अजमेर डिस्कॉंम प्रबंधन ने इन जिलों में बिजली सिस्टम को मजबूत नहीं किया।

माना जा रहा है कि इन 17 जिलों में किसानों को दिन में बिजली लेने के लिए अभी करीब दो साल का इंतजार करना पड़ेगा। हालांकि सरकार ने आगामी रबी सीजन में 16 जिलों में किसानों को दिन में बिजली सप्लाई करने का निर्देश दिया है।

प्रदेश मेंं फिलहाल तीन ब्लॉक में बिजली सप्लाई हो रही है। हर ग्रिड सब-स्टेशन पर रोटेशन के अनुसार दिन के दो ब्लॉक व रात के एक ब्लॉक में कृषि कनेक्शनों को बिजली मिलती है। बकाया रहे जिलों में ओवरलोडिंग की समस्या को दूर करने के लिए पावर ट्रांसफार्मर नहीं लगा पाए है। ऐसे में किसानों में रात के समय सर्दी में खेतों की सिंचाई करनी पड़ेगी। ऊर्जा मंत्री बीडी कल्ला का कहना है कि शेष रहे 17 जिलों में एग्रीकल्चर फीडर को अलग को अलग करने का काम किया जा रहा है।

इन जिलों में रहेगी दिक्कत

  • प्रदेश के कृषि प्रधान जिलों जयपुर, सीकर, झुंझूनू, चूरू, हनुमानगढ़, नागौर, जोधपुर, टोंक, दौसा, गंगानगर, बीकानेर, बाड़मेर, बारां, सवाई माधोपुर, करौली, भरतपुर, अलवर में बिजली सिस्टम मजबूत नहीं हुआ, यहां दिक्कत रहेगी।
खबरें और भी हैं...