राजस्थान इन्वेस्ट समिट:78,700 करोड़ के प्रस्ताव, नीमराना में 121.36 करोड़ की इलेक्ट्रिक टू-थ्री व्हीलर उत्पादन इकाई का एमओयू

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रदेश में निवेश बढ़ाने के लिए दिल्ली में राेड शाे का आयोजन, राज्य सरकार की ओर से देशभर में हाेंगे 28 रोड शो। - Dainik Bhaskar
प्रदेश में निवेश बढ़ाने के लिए दिल्ली में राेड शाे का आयोजन, राज्य सरकार की ओर से देशभर में हाेंगे 28 रोड शो।

प्रदेश में निवेश काे बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार की ओर से बुधवार काे दिल्ली में राेड शाे हुआ। जिसमें जनवरी में प्रस्तावित इन्वेस्ट समिट के लिए सरकार ने 68,698 करोड़ के एमओयू और 10,099 करोड़ के एलओआई पर साइन किए। यह निवेश राज्य के घीलोठ, भिवाड़ी, नीमराना, जयपुर, उदयपुर, अलवर एवं कई अन्य जिलों में स्थापित इकाइयों में प्रस्तावित है। यहां रीको की ओर से विशिष्ट सेक्टोरल जोन विकसित किए गए थे।

इनमें 50 हजार कराेड का निवेश ताे रिन्यू पावर ने राज्य के विभिन्न जिलों में अक्षय ऊर्जा एवं सोलर मॉड्यूल विनिर्माण के लिए प्रस्तावित किया है। विभिन्न जिलों और राज्यों में 28 और रोड शो किए जा रहे हैं। दिल्ली रोड शो में उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री शकुंतला रावत के अलावा शुभ्रा सिंह प्रमुख आवासीय आयुक्त व अतिरिक्त मुख्य सचिव समन्वय, आशुतोष ए टी पेडणेकर सचिव उद्योग व प्रबंध निदेशक रीको व अन्य अधिकारी शामिल हुए।

गाैरतलब है कि राजस्थान में औद्योगिक घरानों, कॉर्पोरेट समूहों और उत्पादन इकाइयों ने रीको द्वारा 49000+ एकड़ भूमि पर विकसित 350 विशाल औद्योगिक क्षेत्रों में अपनी इकाइयां स्थापित की हैं। रीको के औद्योगिक क्षेत्रों में 40,000+ इकाइयां कार्यरत हैं और करीब 150 और औद्योगिक क्षेत्रों का विकास हो रहा है।

निवेशकों से किए वादों को पूर्ण करने की दिशा में मील का पत्थर है : सीएम

‘इन्वेस्ट राजस्थान राज्य के विकास एवं इसकी जनता की समृद्धि के लिए निजी क्षेत्र से दीर्घकालीन भागीदारी स्थापित करने की हमारी प्रतिबद्धता का साकार रूप है। निवेशकों को किये गए वायदों को पूर्ण करने की दिशा में यह मील का पत्थर है। मैं आपको राजस्थान द्वारा प्रस्तुत करने वाले अनेक आकर्षक अवसरों से रूबरू होने एवं उनसे लाभान्वित होने के लिए तथा उज्जवल भविष्य सुनिश्चित करने में आपकी भागीदारी आमंत्रित करता हूं।’
मुख्य कंपनियां व निवेश प्रस्ताव

  • रिन्यू पावर (अक्षय ऊर्जा एवं सोलर मॉड्यूल विनिर्माण) : विभिन्न जिलों में- 50,000 करोड़।
  • जेके लक्ष्मी (सीमेंट उत्पादन तथा लाइम स्टोन उत्खनन) : नागौर, उदयपुर, अलवर- 4,250 करोड़।
  • लेन्सकार्ट : भिवाड़ी- 400 करोड़।
  • डाइकिन एयर कंडिशनिंग : 294 करोड़
  • ओकाया ईवी (इलेक्ट्रिक टू-थ्री व्हीलर के उत्पादन) : नीमराना- 121.36 करोड़।

दुबई एक्सपो में हुए एमओयू

  • पेट्रोकेमिकल : 10,000 करोड़
  • रिन्युएबल एनर्जी : 7,500 करोड़
  • स्वास्थ्य : 5,500 करोड़
  • एग्रो प्रोसेसिंग : 4,500 करोड़
  • स्टार्टअप : 4,000 करोड़

(इनके अलावा लॉजिस्टिक, सिरेमिक, स्टोन, रियल एस्टेट, ई-वेस्ट रिसाइक्लिंग, आईटी और पर्यटन क्षेत्रों में भी एमओयू और एलओयू किए गये हैं।)