• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • ACB Presented All Three Accused In Court, OSD Verma And Travels Company Operations Singhal On Two Days Remand And Sent To AAO

4 लाख की रिश्वत लेने का मामला:ACB ने तीनों आरोपियों को किया कोर्ट में पेश, OSD वर्मा और ट्रेवल्स कंपनी संचालन सिंघल को दो दिन की रिमांड पर और AAO को भेजा जेल

जयपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
JCTSL में कॉन्ट्रेक्ट पर बसें संचालित करने के लिए हुए ठेके में रियायत देने नाम पर मांगी थी 10 लाख रुपए की रिश्वत। - Dainik Bhaskar
JCTSL में कॉन्ट्रेक्ट पर बसें संचालित करने के लिए हुए ठेके में रियायत देने नाम पर मांगी थी 10 लाख रुपए की रिश्वत।

चार लाख रुपए की रिश्वत लेने के मामले में पकड़े गए जयपुर सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विस लि. (JCTSL) के OSD वीरेन्द्र वर्मा समेत अन्य दो को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) ने रविवार देर शाम को कोर्ट में पेश किया। जहां कोर्ट ने OSD वर्मा और पारस ट्रेवल्स एजेंसी के संचालक नरेश सिंघल दो दिन की रिमाण्ड पर लेने और AAO महेश कुमार गोयल जेल भेजने के आदेश दिए। इधर, ACB की ओर से AAO महेश गोयल के मानसरोवर किरनपथ स्थित आवास पर भी बीती देर रात छापा मारा, लेकिन एसीबी को वहां से कुछ बरामद नहीं हुआ। सूत्रों के मुताबिक अब ACB की टीम OSD वर्मा और ट्रेवल्स एजेंसी के संचालक से दो दिन गहन पूछताछ करेगी और इस मामले में कुछ और जानकारी जुटाने का प्रयास करेगी।

आपको बता दें कि जयपुर ACB ने शनिवार शाम डबल ट्रैप की कार्रवाई की थी। इस कार्रवाई में रिश्वत लेने वाले के साथ-साथ देने वाले को भी गिरफ्तार किया है। एसीबी ने OSD वर्मा को 4 लाख रुपए की रिश्वत लेते उसी के आवास पर रंगे हाथों पकड़ा था। इस दौरान रिश्वत देने वाले दिल्ली की बस कंपनी पारस ट्रैवल्स के मालिक नरेश सिंघल को भी वर्मा के ही निवास से पकड़ा था। इस मामले में लिप्त जेसीटीएसएल के सहायक लेखाधिकारी (AAO) महेश कुमार गोयल को उसके मानसरोवर स्थित निवास से पकड़ा था।

ये रिश्वत जेसीटीएस में 100 मिडी बसें कॉन्ट्रेक्ट पर लगाने के लिए जो टेंडर हुआ उसकी शर्तो में शिथिलता देने। बस डिपो पर कंपनी के कर्मचारियों को रहने के लिए 10 आवास उपलब्ध करवाने, पीने के पानी-बिजली सहित अन्य सुविधाएं और सब्सिडी दिलवाने की एवज में OSD वर्मा ने मांगी थी। रिश्वत की राशि 10 लाख की मांग की थी, जिसकी पहली किश्त 4 लाख रुपए देते हुए एसीबी ने पकड़ा था।

गाने का शौकीन है वर्मा, खुद का यू-ट्यूब चैनल बनाकर अपलोड कर रखे हैं कई गाने
वर्मा के पकड़े जाने के बाद अब उनके यू-ट्यूब पर अपलोड किए गाने खूब वायरल हो रहे हैं। वर्मा ने अपने नाम से खुद का यू-टयूब चैनल बना रखा है, जिस पर लगभग दो दर्जन पुराने गाने (खुद ने गाकर) अपलोड कर रखे हैं। इस यू-टयूब चैनल के एक हजार सब्सक्राइबर भी है। चैनल को देखकर लगता है कि वर्मा गाना गाने का खूब शौकीन है।

दो साल से एक ही पद पर रहकर बनाई पकड़
साल 2006 बैच के आरएएस अधिकारी वीरेन्द्र वर्मा पिछले दो साल से JCTSL में ओएसडी पद पर है। पिछले कुछ समय से वह एमडी का भी पदभार संभाले हुए हैं। करीब 2 साल तक डिपार्टमेंट में रहते हुए वर्मा ने विभाग में पकड़ बनाई। इससे पहले वर्मा जैसलमेर में ADM, पाली जिला परिषद में सीईओ, अलवर नगर परिषद में आयुक्त और नगर निगम बीकानेर में आयुक्त पद पर भी रह चुके हैं।

खबरें और भी हैं...