पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • ACB Reached The Headquarters Of Municipal Corporation Greater In Jaipur And Searched Documents, Complaint Was Filed After The Video Viral Of Mayor Husband Rajaram With Bvg Company

बीवीजी कंपनी को भुगतान में सौदेबाजी केस:जयपुर में नगर निगम ग्रेटर के मुख्यालय में पहुंची ACB, तीन टीमें बनाकर आठ घंटे तक खंगाले दस्तावेज, वीडियो वायरल होने के बाद दर्ज हुई थी शिकायत

जयपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नगर निगम ग्रेटर जयपुर की निलंबित महापौर के पति राजाराम का बीवीजी कंपनी के प्रतिनिधि के साथ भुगतान को लेकर सौदेबाजी का वीडियो वायरल होने के बाद एसीबी ने जांच शुरु की। - Dainik Bhaskar
नगर निगम ग्रेटर जयपुर की निलंबित महापौर के पति राजाराम का बीवीजी कंपनी के प्रतिनिधि के साथ भुगतान को लेकर सौदेबाजी का वीडियो वायरल होने के बाद एसीबी ने जांच शुरु की।

जयपुर में चार साल से कचरा संग्रहण करने वाली बीवीजी कंपनी को 276 करोड़ रुपए के भुगतान के बदले 20 करोड़ की सौदेबाजी का वीडियो वायरल होने के बाद दूसरे दिन भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) की टीम जयपुर नगर निगम ग्रेटर के लालकोठी स्थित मुख्यालय पहुंची। वहां एडिशनल एसपी बजरंग सिंह शेखावत के नेतृत्व में एसीबी के 20 से ज्यादा सदस्यों की तीन टीमों ने कचरा संग्रहण से संबंधित दस्तावेज खंगाले। यह कार्रवाई करीब आठ घंटे चली। बताया जा रहा है की एसीबी ने निगम मुख्यालय में कचरा प्रबंधन से जुड़ी कई फाइलों को अपने कब्जे में लिया है। लेकिन इस संबंध में एसीबी की तरफ से शुक्रवार रात तक कोई आधिकारिक बयान नहीं आया।

इस मामले में एसीबी कचरा संग्रहण करने वाली बीवीजी कंपनी के ऑफिस से भी दस्तावेज जुटाएगी। बताया जा रहा है कि एसीबी ने कंपनी से भी संपर्क किया है। जानकारी के अनुसार एसीबी की टीम शुक्रवार दोपहर को नगर निगम ग्रेटर के मुख्यालय पहुंची। इसके बाद देर रात तक वहां कार्रवाई चली।

एसीबी ने सर्च कार्रवाई के दौरान ऑफिस में किसी को प्रवेश नहीं करने दिया। सिर्फ स्टॉफ और मुख्यालय में सफाई कार्यों से जुड़े निगम के अफसरों से जानकारी ली। माना जा रहा है कि वायरल वीडियो और ऑडियो में सामने आई सौदेबाजी के आरोपों से जुड़े दस्तावेज जब्त करने के बाद एसीबी जल्द ही मुकदमा दर्ज करेगी। इसके बाद जांच में आरोप सही होने पर गिरफ्तारी भी संभव है।

10 जून को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था सौदेबाजी का वीडियो
जयपुर में चार साल से कचरा संग्रहण करने वाली बीवीजी कंपनी का पिछले लंबे अरसे से 276 करोड़ का भुगतान अटका हुआ था। गुरुवार को तीन वीडियो और चार ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए। जिसमें नगर निगम ग्रेटर की निलंबित हुई महापौर डॉ. सौम्या गुर्जर के पति राजाराम गुर्जर एक कमरे में बैठकर बीवीजी कंपनी के प्रतिनिधि से बातचीत कर रहे थे।

इस वीडियो में पेमेंट को लेकर सौदेबाजी और बिलों का भुगतान करने पर करीब 10 प्रतिशत कमीशन के हिसाब से 20 करोड़ रुपए लेनदेन की बात चल रही है। वायरल हुए 2 वीडियो में आरएसएस के प्रचारक निंबाराम भी नजर आ रहे है। सोशल मीडिया पर सौदेबाजी का वीडियो वायरल होने के बाद एसीबी ने स्वत: संज्ञान लेकर डीजी बीएल सोनी के निर्देश पर एएसपी बजरंग सिंह शेखावत ने गुरुवार रात को प्राथमिकी शिकायत (पीई) दर्ज की थी। इसके बाद शुक्रवार को एसीबी टीमें जांच करने निगम ग्रेटर के मुख्यालय पहुंच गई।

खबरें और भी हैं...