पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बनेगा हवामहल का मॉडल:जंतर-मंतर और अल्बर्ट हॉल के बाद हवामहल का भी बनेगा मॉडल,एडमा 4 महीने में करेगा प्रोजेक्ट पूरा

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो

जंतर-मंतर और अल्बर्ट हॉल के बाद अब गुलाबीनगरी की शान और पहचान हवामहल में भी पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए हवामहल का मॉडल प्रदर्शित किया जाएगा।एडमा के एग्जीक्यूटिव इंजीनयर रवि गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया की आर्कियोलॉजी डिपार्टमेंट की ओर से पहले भी जंतर-मंतर और अल्बर्ट हॉल में मॉन्यूमेंट्स के हूबहू मॉडल को शोकेस किया गया था उसी तर्ज पर हवामहल में भी ये मॉडल प्रताप सिंह के पुतले के नजदीक खड़ा किया जाएगा ताकि पर्यटक इसके बारे में और जानकारी ले सके।

आठ फुट बाय पांच फुट का होगा मॉडल

रवि गुप्ता का कहना है कि टूरिजम सीजन की शुरुआत के साथ ही पर्यटकों की संख्या में इजाफा हुआ है ऐसे में आर्कियोलॉजी डिपार्टमेंट की ओर से हवामहल में मॉडल बनाने के लिए कुछ समय पहले ही एडमा के पास प्रस्ताव आया था। इस मॉडल को एक्रेलिक शीट पर आठ फुट बाय पांच फुट का बनाया जाएगा जिसमें उतनी ही खिड़की होंगी जितनी हवामहल में है साथ ही ये मजबूत भी होगा। टेंडर देने की प्रक्रिया अभी शुरू नहीं हुई है लेकिन 4 महीने के बाद ये मॉडल पर्यटकों के लिए तैयार हो जाएगा। इस मॉडल को बनाने में लगभग 7 लाख रुपए की लागत आएगी और उम्मीद है की ये पर्यटकों को काफी लुभाएगा।

पर्यटकों का आकर्षण बढ़ाना मुख्य उद्देश्य

हवमहल अधीक्षक सरोजनी का कहना है की कोरोना काल के बाद से शहर के हिस्टोरिकल मॉन्यूमेंट्स पर पर्यटकों की संख्या में कमी आई हैं। लेकिन फेस्टिव सीजन के कारण धीरे धीरे पर्यटकों से हवामहल गुलजार होने लगा है ऐसे में पर्यटकों के आकर्षण को बढ़ाने के लिए हवामहल के जैसा हूबहू मॉडल एडमा के द्वारा तैयार किया जा रहा है। इस से पहले ये मॉडल जंतर-मंतर और अल्बर्ट हॉल में भी तैयार किया गया था जहां इसका रिस्पांस अच्छा मिला था।

पर्यटकों के लिए बढ़ाई सुविधा

सरोजनी कहती है की हवामहल में पर्यटकों की सुविधा के लिए पहले भी फीडिंग रूम, एटीएम बनवाए गए साथ ही क्लॉक रूम भी शुरू करवाया गया ताकि पर्यटक यहां के इतिहास से बिना किसी परेशानी के रूबरू हो सके।

खबरें और भी हैं...