वारदात:हत्या के बाद शव कट्टे में डाल सड़क पर फेंका, बदबू आने पर कुत्तों ने फाड़ा, तब हुआ खुलासा

जयपुर2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मंगलवार को सुबह महात्मा गांधी हॉस्पिटल रोड पर सड़क किनारे पड़े कट्टे से बदबू आने पर श्वानों ने कट्टे को फाड़ दिया, जिसके बाद उसमें से निकला शव देखकर लोगों ने पुलिस को सूचना दी - Dainik Bhaskar
मंगलवार को सुबह महात्मा गांधी हॉस्पिटल रोड पर सड़क किनारे पड़े कट्टे से बदबू आने पर श्वानों ने कट्टे को फाड़ दिया, जिसके बाद उसमें से निकला शव देखकर लोगों ने पुलिस को सूचना दी
  • रविवार से गुमशुदा व्यक्ति का शव मंगलवार को सीतापुरा इंडस्ट्रियल एरिया में मिला

सीतापुरा इंडस्ट्रियल एरिया में व्यक्ति की हत्या करने के बाद शव कट्टे में बंद करके सड़क पर डालने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। मंगलवार को सुबह महात्मा गांधी हॉस्पिटल रोड पर सड़क किनारे पड़े कट्टे से बदबू आने पर श्वानों ने कट्टे को फाड़ दिया, जिसके बाद उसमें से निकला शव देखकर लोगों ने पुलिस को सूचना दी। सांगानेर सदर थाना पुलिस और एफएसएल ने मौके से साक्ष्य जुटाए। जांच में सामने आया है कि शव करीब 2 दिन पुराना है।

थानाधिकारी हरिपाल सिंह ने बताया कि मृतक घनश्याम वैष्णव (55) मूलतः सवाई माधोपुर और हाल श्रीराम की नांगल का रहने वाला था। वह सीतापुरा इंडस्ट्रियल एरिया में गार्ड की नौकरी करता था। मंगलवार को सुबह सड़क किनारे कट्टे में शव मिला है। जिसकी कोविड जांच के बाद पोस्टमार्टम कराया गया है।

शव के गले पर कपड़ा बंधा हुआ था और चोट के निशान थे। मृतक के परिजन भी सूचना पर मौके पर आ गए थे। प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि हत्या किसी दूसरी जगह की गई है। इसके बाद शव को कट्टे में डालकर सड़क किनारे फेंका गया। कट्टे का मुंह बंधा हुआ था। लेकिन श्वानों ने कट्टा फाड़ दिया।
फोन पर हुई थी कहासुनी
मृतक के बेटे श्रीराम की नांगल निवासी बलराम ने रिपोर्ट में बताया कि घनश्याम सीतापुरा स्थित गारमेंट जोन में गार्ड की नौकरी करता था। वह नाइट ड्यूटी में था। रविवार से उनका मोबाइल बंद आ रहा था। परिवार गांव गया हुआ था। पड़ोसी ने फोन पर परिजनों को बताया कि घनश्याम किसी से फोन पर तेज आवाज में बात कर रहा था।

फोन पर कहासुनी के दौरान गाली गलौच भी हुई थी। उसके बाद घर से निकल गया था। परिजनों ने कंपनी में पता किया तो सामने आया कि वह ड्यूटी पर भी नही गया। पुलिस घनश्याम की कॉल डिटेल और सीसीटीवी के आधार पर आरोपियों की तलाश कर रही है।

परिजनों ने सोमवार को दर्ज कराई थी गुमशुदगी, मृतक गार्ड की नौकरी करता था
एडि. डीसीपी अवनीश कुमार शर्मा ने बताया कि सोमवार को घनश्याम के बेटे बलराम ने थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी, जिसमें पिता के घर नहीं आने के बारे में बताया था, लेकिन मंगलवार को पिता का शव मिला। हत्या करने वालों की तलाश में टीमें गठित की गई है। पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी खंगाले, लेकिन देर रात तक कोई सुराग नही मिला।

खबरें और भी हैं...