• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • After The Inconclusive Talks, The Strike Continues For The Second Day Today, More Than 280 Low Floor Buses Did Not Run In The City

JCTSL कर्मचारियों पर रेस्मा लागू:बेनतीजा रही वार्ता के बाद आज दूसरे दिन भी हड़ताल जारी, शहर में नहीं चली 280 से ज्यादा लो फ्लोर बसें

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डिपो में खड़ी लो फ्लोर बसें। - Dainik Bhaskar
डिपो में खड़ी लो फ्लोर बसें।

राज्य सरकार ने विभिन्न मांगों को लेकर हड़ताल कर रहे जयपुर सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विस लि. (JCTSL) के करीब 1 हजार से ज्यादा कर्मचारियों को झटका दिया है। सरकार ने जयपुर शहर में लोकल ट्रांसपोर्ट (लो फ्लोर बसों) की सेवाओं को अत्यावश्यक सेवा घोषित करते हुए इन्हें राजस्थान अत्यावश्यक सेवा अनुरक्षण अधिनियम (रेस्मा) के दायरे में लिया है।

दरअसल जयपुर शहर में लो फ्लोर बसें नहीं चलने से जयपुर शहर में 2 लाख से ज्यादा लोगों को परेशानी हो रही है। वहीं 23 और 24 अक्टूबर को जयपुर जिले में पटवारी परीक्षा है, जिसे देने अलग-अलग जिलों से करीब 3.60 लाख से ज्यादा अभ्यर्थी जयपुर पहुंच आएंगे। ऐसे में इन अभ्यर्थियों को बस स्टेण्ड से एग्जाम सेंटर तक लाने-ले जाने के लिए प्रशासन इन बसों का उपयोग करेगा। इसे देखते हुए सरकार ने रेस्मा लागू किया है।

आज भी नहीं चली बसें
जयपुर शहर में लो फ्लोर बसें नहीं चलने से आज भी करीब 2 लाख यात्रियों को परेशान होना पड़ रहा है। गुरुवार को स्वायत्त शासन विभाग के सचिव भवानी सिंह देथा ने यूनियन के पदाधिकारियों संग सचिवालय में वार्ता की, जो बेनतीजा रही। यूनियन अध्यक्ष विपिन बताया कि जब तक 7वें आयोग के तहत वेतनमान देने, एरियर, बोनस का भुगतान देने और कर्मचारियों को नियमित करने की मांग सरकार नहीं मानेगी, तब तक हड़ताल जारी रहेगी। इसी के चलते शुक्रवार को भी हड़ताल जारी रखी है।

आज से जयपुर पहुंचने लगेंगे अभ्यर्थी
जयपुर में पटवारी परीक्षा शनिवार से शुरू होगी। 23 और 24 अक्टूबर को दो दिन चलने वाली इस परीक्षा में 4 फेज में एग्जाम होंगे। जयपुर में 23 अक्टूबर को एग्जाम देने के लिए करीब 1.80 लाख अभ्यर्थी सीकर, चूरू, झुंझुनूं, अजमेर, टोंक, अलवर, दौसा, बीकानेर, सवाई माधोपुर समेत अन्य जिलों से जयपुर पहुंचेंगे। इसी तरह 24 अक्टूबर को भी इतनी संख्या में अभ्यर्थी जयपुर एग्जाम देने पहुंचेंगे।