• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • After The Open Opposition Among The Legislators And Leaders Regarding Tickets, Now The Exercise Of Damage Control, Disputes In The Areas Of MLAs Coming From Independents And BSP

पंचायत चुनाव में कांग्रेस को भीतरघात का खतरा:नेताओं के आरोप-प्रत्यारोप के बीच डैमेज कंट्रोल की कवायद, निर्दलियों और बसपा से आने वाले विधायकों में ज्यादा विवाद

जयपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर

पंचायत चुनाव के पहले फेज की वोटिंग से पहले अब सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस को भीतरघात का डर सता रहा है। टिकट को लेकर नेताओं के बीच शुरू हुई कलह अंदरखाने अब भी जारी है। सबसे ज्यादा विरोध के सुर निर्दलीय और बसपा से कांग्रेस में आने वाले विधायकों के क्षेत्रों में है। जोधपुर और भरतपुर में तो टिकट पर नेताओं ने एक-दूसरे के खिलाफ खुलकर बयानबाजी की थी। नेताओं के बीच टिकटों पर बने मतभेद बरकरार हैं। अब डैमेज कंट्रोल की कवायद शुरू हो गई है।

इन क्षेत्रों में चुनाव में विधायकों और विधायक उम्मीदवारों की सिफारिश पर ही टिकट दिए गए हैं। अभी जयपुर, दौसा, जोधपुर, भरतपुर, सवाईमाधोपुर, सिरोही में चुनाव हो रहे हैं। इन 6 जिलों में 4 निर्दलीय और 2 बसपा से कांग्रेस में आए विधायक हैं। इन क्षेत्रों में कांग्रेस के हारे हुए विधायक के उम्मीदवार टिकट वितरण में नहीं चलने से नाराज हैं। इन 6 विधानसभा क्षेत्रों में विवाद ज्यादा है। इसके अलावा सवाईमाधोपुर में विधायक अशोक बैरवा और उनके परिवार में ही सियासी खींचतान चली है।

आरोप-प्रत्यारोप का दौर
जयपुर के दूदू से निर्दलीय बाबूलाल नागर और ​कांग्रेस उम्मीदवार रितेश बैरवा के समर्थक आमने सामने हैं। शाहपुरा से आलोक बेनीवाल की टिकट वितरण में चलने से कांग्रेस उम्मीदवार और पायलट समर्थक मनीष यादव नाराज हैं। बस्सी से निर्दलीय विधायक लक्ष्मण मीणा से कांग्रेसी खेमा नाराज है। भरतपुर में नगर विधायक वाजिब अली और कामां विधायक जाहिदा के बीच टिकटों को लेकर सार्वजनिक आरोप प्रत्यारोप लग चुके हैं। नदबई से विधायक जोगिंद्र सिंह अवाना से भी कांग्रेस का एक खेमा नाराज है। सिरोही में निर्दलीय विधायक सयंम लोढ़ा और कांग्रेस उम्मीदवार जीवारााम आर्य के बीच टकराव है।

जोधपुर और भरतपुर में सार्वजनिक बयानबाजी
जोधपुर में पूर्व सासंद बद्री जाखड़ और विधायक दिव्या मदेरणा में टिकटों को लेकर मतभेद थे। बद्री जाखड़ ने संभाग प्रभारी रामलाल जाट और जिला प्रभारी प्रशांत बैरवा पर गलत तरीके से हारने वालों को टिकट देने के आरोप लगाए थे। कामां विधायक जाहिदा ने उनके क्षेत्र में आने वाले वार्डों में नगर विधायक वाजिब अली पर BJP के लोगों को टिकट देने के आरोप लगाए थे। बदले में वाजिब अली ने जाहिदा पर भ्रष्टाचार करने के आरोप लगाए ।

एक ही वार्ड में दो-दो सिंबल बांटने से भी विवाद
इस चुनाव में कई पंचायत समिति और जिला परिषद वार्ड ऐसे हैं, जो दो विधानसभा क्षेत्रों में आते हैं। ऐसे क्षेत्रों में टिकटों को लेकर विवाद ज्यादा है। कई जगह गफलत में दो-दो सिंगल बांट दिए। बाद में गलती का अहसास होने पर एक सिंबल वापस लिया गया। इस गफलत की वजह से भी विवाद और नाराजगी बढ़ी। भरतपुर के जिले में कामां और नगर विधानसभा क्षेत्रों के वार्डों में इस तरह की गलती हो चुकी है।

खबरें और भी हैं...