पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • After The Year 2010, Now The District Head Of Congress Will Be Made, Who Will Be The Head Of 22 Panchayat Samitis, The Picture Will Be Clear By 5:30 Pm Today.

जयपुर पंचायत चुनाव:साल 2010 के बाद अब बनेगा कांग्रेस का जिला प्रमुख, 22 पंचायत समितियों में कौन बनेगा प्रधान आज शाम 5:30 बजे तक तस्वीर होगी साफ

जयपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
22 पंचायत समितियों में कौन प्रधान बनेगा इसकी तस्वीर आज शाम 5:30 बजे तक साफ हो जाएगी। - Dainik Bhaskar
22 पंचायत समितियों में कौन प्रधान बनेगा इसकी तस्वीर आज शाम 5:30 बजे तक साफ हो जाएगी।
  • 9 पंचायत समितियों में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं, यहां चुनाव दिलचस्प होगा

जयपुर में पंचायत चुनाव के रिजल्ट आने के बाद आज सबकी निगाहे जिला प्रमुख और 22 पंचायत समितियों में प्रधान के चुनाव पर है। सोमवार को जयपुर में कांग्रेस की ओर से सरोज शर्मा, भाजपा की ओर से रमा देवी और अचरज कंवर ने जिला जिला प्रमुख के लिए नामांकन दाखिल कर दिया है। इसमें भाजपा की ओर से नामांकन दाखिल करने वाली रामा देवी कांग्रेस के सिंबल पर वार्ड 17 से चुनाव जीतकर आई हैं। ऐसे में कांग्रेस की बगावत सामने आ गई है।

जयपुर जिला परिषद में इस बार कांग्रेस को बहुमत मिला है और 2010 के बाद यहां कांग्रेस का जिला प्रमुख बनेगा। इसके लिए अब से कुछ देर बाद ही चुनाव प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। वहीं 22 पंचायत समितियों में कौन प्रधान बनेगा इसकी तस्वीर आज शाम 5:30 बजे तक साफ हो जाएगी।

झोटवाड़ा से रामनारायण झाझड़ा का प्रधान बनना तय
कालवाड़ क्षेत्र की झोटवाड़ा पंचायत समिति में दूसरी बार बहुमत में आई कांग्रेस ने सामान्य वर्ग के प्रधान पद पर ओबीसी प्रत्याशी रामनारायण झाझड़ा को प्रधान पद का प्रत्याशी बना कर नामांकन दाखिल करवाया। ऐसे में अब रामनारायण झाझड़ा का प्रधान बनना लगभग तय हो गया है। वहीं भाजपा ने भी रामफूल भावरिया अपना प्रत्याशी बनाया है। दोपहर बाद मतदान प्रक्रिया वह भी और शाम 4:00 बजे बाद प्रधान प्रत्याशी के निर्वाचन की घोषणा की जाएगी।

पंचायत समितियों में प्रधान के चुनाव बड़े ही दिलचस्प होंगे, क्योंकि यहां 9 पंचायत समितियों में किसी भी पार्टी का बहुमत नहीं है, ऐसे में यहां निर्दलीयों पर सब निर्भर रहेगा। इसके अलावा 8 पंचायत समितियों में कांग्रेस को, जबकि 5 में भाजपा को बहुमत हासिल हुआ है। हालांकि इन 9 पंचायत समितियों में जालसू, कोटपूतली और गोविंदगढ़ में भाजपा की सबसे ज्यादा सीटे है, जबकि चाकसू, तूंगा में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी है। आमेर, पावटा, आंधी और शाहपुरा ऐसी समितियां है जहां निर्दलियों का पलड़ा भारी है।

आमेर और पावटा में रहेगा रोचक मुकाबला
पंचायत समिति आमेर में 23 वार्डो में भाजपा और कांग्रेस 11-11 यानी बराबर सीटे मिली है, यहां बहुमत के लिए दोनों को एक सीट चाहिए और वह निर्दलीय है। यही निर्दलीय उम्मीदवार आमेर पंचायत समिति में प्रधान बनाने में अहम भूमिका निभा सकता है। इसी तरह पावटा पंचायत समिति में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला है। यहां 23 वार्डो में से 10-10 पर कांग्रेस-भाजपा जीती है। वहीं 2 आरएलपी और एक निर्दलीय सदस्य जीतकर आए है। यहां आरएलपी निर्णायक भूमिका में है।

7 नई पंचायत समितियों में पहली बार बनेगा प्रधान
जयपुर में पंचायत समितियों के हुए पुनर्गठन के बाद 7 नई पंचायत समितियां बनी है, जिनमें चुनाव पहली बार हुआ है। नई पंचायत समितियों में जोबनेर, किशनगढ़-रेनवाल, मौजमाबाद, माधोराजपुरा, आंधी, तूंगा और कोटखावदा शामिल है। इससे पहले जयपुर जिले में 15 पंचायत समितियां थी, जो अब बढ़कर 22 हो गई।

खबरें और भी हैं...