BJP के पोस्टरों में वसुंधरा की एंट्री:राजस्थान में मोदी, नड्डा, पूनिया और कटारिया के साथ दो साल बाद राजे भी दिखीं

जयपुर13 दिन पहले
राजस्थान बीजेपी मुख्यालय में लगे पोस्टर में फिर लौटी पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की तस्वीर।

राजस्थान में चुनावी साल शुरू होने के साथ ही भारतीय जनता पार्टी में सियासी हलचल तेज हो गई है। सतीश पूनिया के अध्यक्ष बनने के बाद बीजेपी पोस्टर से हटा दी गई वसुंधरा राजे को एक बार फिर पार्टी पोस्टर में जगह मिल गई है।

पिछले 2 साल से पार्टी मुख्यालय पर लगे बड़े होर्डिंग्स में केंद्रीय नेताओं के साथ गुलाबचंद कटारिया और सतीश पूनिया की ही फोटो पोस्टर में थी।

अब बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के राजस्थान दौरे के दिन पार्टी मुख्यालय पर नया पोस्टर लगाया गया।

इसमें वसुंधरा राजे को भी पार्टी के फेस के तौर पर प्रेजेंट किया गया है। पार्टी के इस बदलाव के बाद राजस्थान बीजेपी में वसुंधरा राजे की चुनावी भूमिका को लेकर कयासों का दौर भी शुरू हो गया है।

सतीश पूनिया के अध्यक्ष बनने के बाद पार्टी मुख्यालय पर लगे पोस्टर से वसुंधरा राजे की तस्वीर को हटा दिया गया था।
सतीश पूनिया के अध्यक्ष बनने के बाद पार्टी मुख्यालय पर लगे पोस्टर से वसुंधरा राजे की तस्वीर को हटा दिया गया था।

पूर्व मुख्यमंत्री का फेस पोस्टर में जरूरी

राजस्थान बीजेपी के कार्यालय मंत्री महेश शर्मा ने कहा- वसुंधरा राजे हमारी पार्टी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री हैं।

इसलिए पार्टी के पोस्टर में उनका चेहरा जरूरी है। वसुंधरा राजे को पोस्टर में अब तक जगह नहीं मिलने का सवाल किया गया तो शर्मा बोले- मैं जब कार्यालय मंत्री बना तब से ही वह पोस्टर लगे हुए थे। जो मैंने नहीं लगवाए थे। इसलिए उस चीज की जानकारी मुझे नहीं है।

बीजेपी मुख्यालय पर लगे वसुंधरा राजे के पोस्टर के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं ने खुशी जाहिर की है। राजेंद्र तिवारी (बाएं) और सत्येंद्र त्यागी (दाएं) ने कहा कि प्रदेश भाजपा की इस पहल से चुनाव में पार्टी को फायदा होने वाला है।
बीजेपी मुख्यालय पर लगे वसुंधरा राजे के पोस्टर के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं ने खुशी जाहिर की है। राजेंद्र तिवारी (बाएं) और सत्येंद्र त्यागी (दाएं) ने कहा कि प्रदेश भाजपा की इस पहल से चुनाव में पार्टी को फायदा होने वाला है।

पार्टी कार्यकर्ताओं ने जताई खुशी

वसुंधरा राजे का पार्टी मुख्यालय पर पोस्टर लगने के बाद पार्टी में उनके समर्थकों ने खुशी जाहिर की है। बीजेपी कार्यकर्ता राजेंद्र तिवाड़ी ने कहा- वसुंधरा राजे राजस्थान में बीजेपी का चेहरा हैं। आम जनता उन्हें बहुत ज्यादा पसंद करती है। इसलिए उनका पोस्टर में आना पार्टी के लिए फायदेमंद होगा। हालांकि वसुंधरा राजे के साथ कुछ लोगों ने चीटिंग की थी। वह शेर हैं, थीं और रहेंगी।

आगे खबर पढ़ने से पहले पोल में हिस्सा लीजिए...

बीजेपी को होगा फायदा

बीजेपी कार्यकर्ता सतेंद्र त्यागी ने कहा- वसुंधरा राजे लोगों के दिलों में राज करती हैं। इसलिए अब तक वह पोस्टर में नहीं थीं। वसुंधरा जी की लोकप्रियता पर इसका कोई फर्क नहीं पड़ा था। अब जब उन्हें फिर से पोस्टर में जगह मिली है। तो इससे बीजेपी को ही फायदा जरूर होगा।

23 जनवरी को जयपुर में आयोजित प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में यह वसुंधरा राजे को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ मंच पर जगह दी गई थी।
23 जनवरी को जयपुर में आयोजित प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में यह वसुंधरा राजे को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ मंच पर जगह दी गई थी।

इससे पहले भारतीय जनता पार्टी की ओर से राजस्थान में निकाली गई जन आक्रोश यात्रा के पोस्टर्स में भी वसुंधरा राजे को जगह दी गई थी।

वहीं, 23 जनवरी को एंटरटेनमेंट पैराडाइज में आयोजित प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में भी सतीश पूनिया और गुलाबचंद कटारिया के साथ वसुंधरा राजे के होर्डिंग्स लगाए गए थे।

इसके साथ ही प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह ने उन्हें राष्ट्रीय अध्यक्ष के बगल में बैठने के लिए खुद की जगह दी थी। इसके बाद एक बार फिर से वसुंधरा राजे को लेकर एक बार फिर सियासी गलियारों में चर्चा शुरू हो गई है।

ये भी पढ़ें...

RU अध्यक्ष को मारने की पहले ही दी थी चेतावनी:महासचिव बोले- केंद्रीय मंत्री पर स्याही फेंकने का था प्लान

जयपुर के महारानी कॉलेज में छात्रसंघ ऑफिस उद्घाटन कार्यक्रम में हुई मारपीट को लेकर सभी पक्ष अपने-अपने दावे कर रहे हैं। वहीं, कॉलेज की छात्रसंघ संयुक्त सचिव शहनाज बानो ने भास्कर को बताया कि अरविंद जाजड़ा ने 3 दिन पहले ही निर्मल को मारने की चेतावनी दी थी। उन्होंने कहा था- अगर निर्मल स्टेज पर चढ़ गया तो मैं उसके जूते मारूंगा। अरविंद का कहना है कि निर्मल और उसके समर्थक केंद्रीय मंत्री को काले झंडे दिखाकर स्याही फेंकना चाहते थे। (पूरी खबर पढ़ें)

खबरें और भी हैं...