पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

REET पर सरकार का अहम निर्णय:बीएड डिग्रीधारी नहीं दे सकेंगे लेवल-1 का एग्जाम, 11 जनवरी से भरे जाएंगे आवेदन

जयपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटसरा ने आज मीडिया से बात की। - Dainik Bhaskar
शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटसरा ने आज मीडिया से बात की।

REET भर्ती परीक्षा मामले में राजस्थान सरकार ने बड़ा निर्णय किया हैं। इस परीक्षा के लेवल-1 में बीएड डिग्रीधारी बैठ नहीं सकेंगे। साथ ही सरकार ने 11 जनवरी से REET भर्ती के लिए आवेदन भरने का फैसला किया हैं, जिसको लेकर आज माध्यमिक शिक्षा बोर्ड आज विज्ञप्ति भी जारी कर सकता हैं।

शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटसरा ने आज मीडिया से बात करते हुए कहा कि REET लेवल-1 में केवल BSTC वाले ही एग्जाम दे सकेंगे। इसमें बीएड डिग्रीधारी एग्जाम नहीं दे सकेंगे। सरकार के इस निर्णय से BSTC वालों को बड़ी राहत मिली हैं। पिछले कई दिनों से BSTC इसको लेकर आंदोलनरत भी थे, जिसका उन्हें फायदा मिला हैं।

आपको बता दें कि REET एग्जाम करवाने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 25 अप्रैल की तिथि की घोषणा की हैं। इस एग्जाम के बाद राज्य सरकार प्रदेश में 31 हजार शिक्षकों की भर्ती के लिए आवेदन मांगेगी। इस भर्ती में REET में पास होने वाले अभ्यर्थियों को ही नौकरी दी जाएगी।

11 जनवरी से 4 फरवरी तक भरे जाएंगे आवेदन
डोटसरा ने बताया कि REET भर्ती के लिए 11 जनवरी से ऑनलाइन आवेदन भरे जाएंगे, जो 4 फरवरी तक भरे जाने का प्रस्ताव हैं। 8 फरवरी तक चालान जमा करवाने की प्रक्रिया होगी। हालांकि उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से ये प्रस्ताव माध्यमिक शिक्षा बोर्ड को भेजा जाएगा, बोर्ड अपनी सुविधा अनुसार इस कार्यक्रम में संशोधन भी कर सकती हैं।

अकेडमी नंबरों का वेटेज किया कम
इस बार REET परीक्षा में राजस्थान के अभ्यर्थियों को लाभ देने के लिए राजस्थान से संबंधित सामान्य ज्ञान के प्रश्न ज्यादा आएंगे। इसके अलावा सरकार ने इस बार REET के प्राप्तांक (स्कोर) को 90 प्रतिशत तक वेटेज देने का भी अहम निर्णय किया हैं। जबकि एकेडमिक एज्यूकेशन (बीए, बीकॉम, बीएससी या अन्य स्नातक डिग्री) में प्राप्त अंकों का वेटेज 10 प्रतिशत ही मिलेगा। अभी तक REET परीक्षा के बाद थर्ड ग्रेट टीचर भर्ती में 70/30 का वेटेज दिया जाता हैं। इसके तहत REET के प्राप्तांकों का 70 प्रतिशत वेटेज और एकेडमिक एज्यूकेशन में प्राप्त अंकों का 30 प्रतिशत वेटेज देते हुए मैरिट लिस्ट जारी की जाती हैं।