गहलोत-पायलट की खींचतान फिर सामने आई:लोकार्पण कार्यक्रम में बुलावे पर भी नहीं आए गहलोत; सचिन को CM बनाने को समर्थकों की नारेबाजी

जयपुर8 महीने पहले
चाकसू में अंबेडकर मूर्ति लोकार्पण समारोह में सचिन पायलट और समर्थक विधायक

उपचुनाव में एकजुटता दिखाने के कांग्रेस के दावों के सप्ताह भर बाद ही चाकसू में अंबेडकर की मूर्ति के लोकार्पण समारोह में अंदरूनी खींचतान फिर देखने को मिली है। सचिन पायलट समर्थक विधायक के अंबेडकर मूर्ति के लोकार्पण समारोह में सीएम अशोक गहलोत और कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा बुलावे के बावजूद नहीं गए। सचिन पायलट ने कार्यक्रम में तंज भी कसे। इस कार्यक्रम के लिए सीएम गहलोत और प्रदेशाध्यक्ष डोटासरा को बुलाया गया था, लेकिन दोनों नेता नहीं पहुंचे।

पायलट ने कहा- 'अंबेडकर साहब की मूर्ति के लोकार्पण के लिए कुछ दिन पहले विधायक वेदप्रकाश सेालंकी सहित आयोजन से जुड़े लोग आए थे। उस वक्त मैंने सीएम अशोक गहलोत, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा सहित सबको न्योता देने को कहा था। सबको न्योता दिया गया। वे किसी कारणवश आ नहीं सके। मैं जानता हूं दलितों की भलाई के लिए सरकार और पार्टी में सब पूरी मेहनत से लगे हुए हैं।'

पायलट ने सरकार पर कसा तंज
सचिन पायलट ने सरकार पर तंज भी कसा। पिछले दिनों चाकसू में सचिन पायलट के पिता और कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे दिवंगत राजेश पायलट की मूर्ति गुपचुप लगाने और इसके विवाद को लेकर सरकार पर इशारों में तंज कसा। पायलट ने कहा- प्रतिमाओं का अनावरण सबको साथ लेकर लोगों को जोड़ने के लिए किया जाता है। चुपचाप करके किनारे मूर्ति लगाने से नहीं काम चलता। आनन-फानन में न पूछो, बताओ और सीधा मूर्ति लगा दो, उससे अच्छा संदेश नहीं जाता। आज यह काम सबको साथ लेकर परमिशन लेकर किया है। हमने पूरी परमिशन के साथ अंबेडकर साहब की मूर्ति लगाई है।

पायलट ने उठाया मंत्रिमंडल फेरबदल का मुद्दा
सचिन पायलट ने एक बार फिर कैबिनेट विस्तार का मुद्दा उठाया। पायलट ने कहा- दिवंगत मास्टर भंवरलाल मेघवाल ने मेरे साथ उपाध्यक्ष के तौर पर काम किया। उन्होंने दलित समाज की आवाज को उठाया। कांग्रेस को दलित समाज से जोड़ने का काम किया। उनके जाने से कैबिनेट में जो जगह खाली हुई है, उम्मीद है सरकार जल्द ही दलित समाज के व्यक्ति को कैबिनेट मंत्री का पद देगी। हमारे दलित भाई बहनों को मान सम्मान देने के साथ सरकार में भागीदारी देनी होगी। आज हम लोगों की सरकार है। मुझे विश्वास है कि आदिवासी दलित भाइयों को प्रतिनिधित्व देंगे। आज हमारी जिम्मेदारी है कि उन्हें ताकत और संबल दें। जहां तक संभव होगा दलित समाज के भाई बहनों को आगे बढ़ने का मौका मिलेगा।

समारोह में लगे पायलट को सीएम बनाने के नारे
अंबेडकर की मूर्ति के अनावरण समारोह में सचिन पायलट समर्थकों ने उन्हें सीएम बनाने की मांग को लेकर जोरदार नारेबाजी की। पायलट समर्थक बीच बीच में कई बार नारेबाजी करते रहे। कांग्रेस नेता और राजस्थान के पूर्व सहप्रभारी सचिन तरूण कुमार ने कहा कि इस कार्यक्रम का मैसेज दिल्ली तक जाएगा। आज के कार्यक्रम में बामनवास विधायक विधायक इंद्रा मीणा और निवाई विधायक प्रशांत बैरवा की मौजूदगी भी चर्चा का विषय रही। इंद्रा मीणा लंबे समय बाद पायलट के कार्यक्रम में शामिल हुई हैं।

सचिन ने बीजेपी को बताया बहरूपिया:पायलट बोले- जो पटेल-अंबेडकर को देखते तक नहीं थे वे बहरूपिये आज वोटों के लिए उनकी पूजा कर रहे

खबरें और भी हैं...