• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Attempt To Kidnapping Of 10 Year Old Boy In Bagru Jaipur When He Playing Out Side At The Home On The Pretext Of Asking For The Address

10 साल के बालक के अपहरण का प्रयास:घर के बाहर खेल रहे बालक को पता पूछने के बहाने घर से दूर बुलाया, बदमाशों ने गाड़ी मंगवाई तब तक पत्थर मारकर चंगुल से छुड़ाकर भागा

जयपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर के बगरु इलाके में अज्ञात बदमाशों ने घर के बाहर खेल रहे एक बालक के अपहरण का प्रयास किया - Dainik Bhaskar
जयपुर के बगरु इलाके में अज्ञात बदमाशों ने घर के बाहर खेल रहे एक बालक के अपहरण का प्रयास किया

शहर के बगरु इलाके में 10 साल के एक बालक के अपहरण का प्रयास करने का मामला सामने आया है। यह घटना दो दिन पहले देर शाम की बताई जा रही है। इस संबंध में बच्चे के पिता ने बगरु थाने में मंगलवार को केस दर्ज करवाया। पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है। पुलिस के अनुसार छितरोली में मालियों की ढाणी, वार्ड नंबर 35 के रहने वाले रामकिशोर माली ने रिपोर्ट में बताया है कि उनका 10 साल का बेटा अनीष है। वह 11 अक्टूबर को शाम 6:30 बजे गांव में घर के बाहर खेल रहा था।

तभी चार लोग पैदल पैदल आए। उन्होंने अनीष को अपने पास में बुलाया। उसे दूसरे गांव में जाने का रास्ता पूछा और बातों में लगाकर घर से दूर ले गए। इसके बाद बदमाशों ने अनीष का मुंह दबाकर दबोच लिया। उसे उठाकर पैदल ही रवाना हो गए। अनीष खुद को हाथ पैर मारने लगा। तब बदमाशों ने उसे नशीली गोली भी खिलाने का प्रयास किया। लेकिन उसने गोली को मुंह से बाहर थूंककर निकाल दिया।

बदमाशों ने गैंग के दूसरे साथियों को फोन कर गाड़ी मंगवाई, तब तक भाग निकला

रिपोर्ट में अनीष के पिता ने बताया है कि करीब आधा किलोमीटर दूर जाकर बदमाशों ने अपने ग्रुप के किसी व्यक्ति को फोन कर एक गाड़ी मंगवाई। इस बीच बदमाशों ने बच्चे को धमकाकर अपने पास ही बैठा रखा था। लेकिन अनीष ने हिम्मत नहीं हारी। उसने पास ही रखा पत्थर उठाकर तेजी से एक बदमाश पर फेंका। इससे उसके चोट लग गई। तीनों बदमाश अपने साथी को संभालने लगे।

तब तक अनीष मौका पाकर तेजी से चीख पुकार मचाते हुए भाग निकला। रास्ते में कुछ राहगीर वाहन चालक नजर आए। इससे बदमाश पीछा कर दोबारा अनीष को पकड़ नहीं सके। पिता रामकिशोर के मुताबिक रोते बिलखते हुए बच्चा घर पहुंचा। तब उसने आपबीती बताई। तब बच्चे के पिता व आसपड़ोस के लोग घटनास्थल तक पहुंचे। लेकिन वहां कोई नजर नहीं आया।

फोन नंबर से सुलझेगी अपहरण की गुत्थी

मामले में बच्चे के पिता ने एक मोबाइल फोन नंबर पुलिस को बताया है, जो कि अपहरणकर्ताओं का होना बताया जा रहा है। फिलहाल पुलिस ने बच्चे के बयानों के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। लेकिन पुलिस मामले को संदिग्ध मान रही है। ऐसे में बारीकी से पड़ताल की जा रही है। केस की जांच एएसआई मदनगोपाल को सौंपी गई है।

खबरें और भी हैं...