6.5 फीसदी ब्याज पर हाउसिंग लोन:बैंकों व वित्तीय संस्थानों ने शुरू किए फेस्टिव ऑफर, 10 लाख के लोन की बीस साल के लिए ईएमआई 7456 रुपए

जयपुर2 महीने पहलेलेखक: प्रमोद कुमार शर्मा
  • कॉपी लिंक
यह फेस्टिव ऑफर 8 नवंबर तक ही रहेगा। - Dainik Bhaskar
यह फेस्टिव ऑफर 8 नवंबर तक ही रहेगा।

त्योहारी सीजन में हाउसिंग लोन के ग्राहकों को लुभाने के लिए बैंकों व वित्तीय संस्थानों ने ब्याज दरों में कमी करना शुरू कर दिया है। इसके चलते हाउसिंग लोन ब्याज दरें 6.50 फीसदी के न्यूनतम स्तर तक उतर गई हैं। निजी क्षेत्र के कोटक महिंद्रा बैंक ने फेस्टिव ऑफर के तहत हाउसिंग लोन ब्याज दर को घटाकर 6.50 फीसदी कर दिया है। हालांकि यह फेस्टिव ऑफर 8 नवंबर तक ही रहेगा।

वहीं, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में सबसे कम ब्याज दर पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) की है। यह 6.60 फीसदी ब्याज पर हाउसिंग लोन दे रहा है। पंजाब एंड सिंध बैंक ने ब्याज दर घटाकर 6.65 और देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने 6.70 फीसदी कर दी है। इससे पहले एसबीआई की ब्याज दर 7.1 फीसदी थी। हालांकि कम ब्याज दर हाउसिंग लोन उन ग्राहकों को ही मिलेगा, जिनका सिबिल स्कोर 800 से ऊपर है।

दूसरी तरफ गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनी (एनबीएफसी) टाटा कैपिटल 6.70 और बजाज फिनसर्व 6.80 फीसदी ब्याज दर होम लोन दे रही है। बैंक व एनबीएफसी के फेस्टिव ऑफर के तहत लोन की प्रोसेसिंग व डाक्यूमेंटेशन फीस में छूट समेत कई तरह की पेशकश कर रहे हैं। काबिलेगौर है कि ब्याज दर में कमी से ईएमआई कम हो जाती है।

इधर, क्रेडाई राजस्थान के पूर्व अध्यक्ष सुनील जैन का कहना है हाउसिंग लोन की ब्याज दरों में कमी से मकानों की बिक्री में 40 फीसदी उछाल आया है। जयपुर में बिल्डरों के पास इन्वेंट्री भी कम हो गई है। ब्याज दरें कम होने से लोग मकान खरीद रहे हैं। खुद का मकान खरीदना आसान हो गया है। ऐसे में त्योहारी सीजन के दौरान मकानों की बिक्री में और उछाल आने की संभावना है।

  • क्रेडाई का दावा-इस साल मकानों की बिक्री में 40 फीसदी उछाल
  • बैंकों व वित्तीय संस्थानों ने शुरू किए फेस्टिव ऑफर, दिसंबर तक ले सकेंगे ग्राहक इनका लाभ

पुराने लोन की ब्याज दर स्वत: होगी रेपो रेट से लिंक
बैंक ऑफ बड़ौदा में मुख्य प्रबंधक सुभाष अग्रवाल का कहना है कि त्योहारी सीजन के मद्देनजर लगभग सभी बैंकों ने हाउसिंग लोन के ब्याज दरों में काफी कमी की है। साथ ही उनका बैंक अब पुराने लोन की ब्याज दरों को समीक्षा के दौरान स्वत: ही रेपो रेट से लिंक कर रहा है।

हालांकि अगर कोई ग्राहक समीक्षा से पहलेे ब्याज दर को रेपो रेट से लिंक कराना चाहता है तो उसको 2,500 रुपए (जीएसटी अलग से) का भुगतान करना होगा। इसी तरह हर बैंक पुराने लोन की ब्याज दर को रेपो रेट से लिंक करने के लिए अलग-अलग शुल्क ले रहा है। अभी मकान खरीदने के लिए बेहतर समय है। सबसे अच्छी बात यह कि आप कम बजट में अच्छी लोकेशन का मकान देख सकते हैं।