• Hindi News
  • Politics
  • Beating UP On The First Position In The Country; 24 Rajasthani Out Of 178, 19 From UP

देश को IAS देने में यूपी से आगे निकला राजस्थान:2020 की सिविल लिस्ट में यूपी था सिरमौर, 2021 में 178 में से 24 राजस्थानी, यूपी से सिर्फ 19

जयपुर8 दिन पहलेलेखक: मनोज शर्मा
  • कॉपी लिंक
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ प्रशिक्षु आईएएस अफसर मसूरी स्थित प्रशिक्षण अकादमी में। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ प्रशिक्षु आईएएस अफसर मसूरी स्थित प्रशिक्षण अकादमी में। (फाइल फोटो)

सिविल सेवा परीक्षा में राजस्थान के युवाओं ने सारे मिथक तोड़ते हुए आईएएस में उत्तर प्रदेश को पछाड़ते हुए पहले पायदान पर ला दिया है। केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय की ओर से सिविल सेवा परीक्षा-21 में आईएएस के लिए सलेक्ट 179 अभ्यर्थियों में सबसे अधिक 24 राजस्थान से हैं, जो पिछले साल की तुलना में महज 2 ज्यादा हैं, लेकिन अब तक आईएएस देने में सिरमौर उत्तर प्रदेश से आगे निकल गया है। इस साल उत्तर प्रदेश के 19 अभ्यर्थियों को आईएएस में जगह मिली हैं। जबकि, वर्ष 2020 में यूपी से 30 और हमारे यहां से 22 युवाओं को आईएएस श्रेणी में स्थान मिल पाया था। हमारा देश में दूसरा और यूपी पहले नंबर पर था।

कार्मिक मंत्रालय की पिछले चार साल की रिपोर्ट देंखे तो राजस्थान से आईएएस बनने वालों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी देखी गई। वर्ष 2021 में 24, वर्ष 2020 में 22, वर्ष 2019 में 16 और वर्ष 2018 में 22 युवाओं को आईएएस श्रेणी मिली है। इस तरह पिछले 4 साल में ही प्रदेश से 84 युवा आईएएस बन गए हैं।

राजस्थानी, जो आईएएस बने
प्रीतम कुमार, रवि कुमार सिहाग, सुनील कुमार धनवंता, नमन गोयल, दिव्यांश सिंह, मुकुल जैन, मोहित कासनियां, दीपेश कुमारी, प्रहलाद नारायण शर्मा, तनुश्री मीना, विकास रूहेला, उत्कर्ष खांडल, नेहा बियाडवाल, राममोहन मीना, वंदना मीना, राघवेंद्र मीना, राजेश कुमार मौर्य, कृष्ण कांत कंवरिया, यशवंत मीना, सुलोचना मीना, युवराज मारमट, दीपक कुमार, विनय कुमार मीना, निशांत सिहार।