रीट पेपर लीक करने का मामला:भजनलाल 12वीं पास, रेडियोग्राफार भर्ती में भी बांट चुका फर्जी डिग्री, भाई को व्याख्याता बनाया, तलाश में जुटी एसओजी

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भजनलाल बिश्नाेई। - Dainik Bhaskar
भजनलाल बिश्नाेई।

रीट-2021 का पेपर लीक करने वाले गिराेह से पेपर खरीदने वाले एक और अभ्यर्थी काे एसओजी ने बुधवार काे गिरफ्तार कर लिया। अभ्यर्थियाें काे पेपर बेचने वाले जेईएन पृथ्वीराज मीणा, रवि जीनापुर, रवि मीणा से पूछताछ के बाद एसओजी ने 12.22 लाख रु. बरामद कर लिए हैं। ये रकम अभ्यर्थियाें से पेपर देने की एवज में ली थी।

पेपर लीक करने वाले जालाैर के रणोदर (चितलवाना) निवासी भजनलाल बिश्नाेई की तलाश में एसओजी प. राजस्थान में दबिश दे रही है। जांच में सामने आया है भजनलाल ने रेडियाेग्राफर व लैब टेक्निशियन भर्ती में भी फर्जी डिग्रियां बांटी थी। 12वीं पास भजनलाल का भाई हाल में व्याख्याता बना है। एसओजी एडीजी अशोक राठौड़ ने कहा- जिसने भी परिक्षा में अनुचित साधनों का प्रयोग किया है, वे सब जल्द गिरफ्त में होंगे।

  • पेपर लीक करने वाले भजनलाल की तलाश में जुटी एसओजी

पेपर खरीदने वाला एक और गिरफ्तार, अब तक 20 पकड़े

गिरफ्तार आराेपी अमित कुमार मीना कराैली में महावीरजी के पास दानालपुर का रहने वाला है। अभी सवाई माधाेपुर में हाउसिंग बाेर्ड काॅलाेनी में रहता है। पूर्व में गिरफ्तार आराेपी रवि जीनापुर ने एसओजी की पूछताछ में उन अभ्यर्थियाें के नाम बताए हैं, जिन्हें पेपर बेचा था। रवि की गिरफ्तारी के बाद पेपर खरीदने वाले अभ्यर्थी फरार हाे गए। इनकी तलाश में एसओजी अब तक कुल 20 आरोपियों को पकड़ चुकी है।

खबरें और भी हैं...