पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Bhupendra Yadav's Stature Increased Rapidly In The Sangh BJP After Assuming The Responsibility Of Ram Ram Temple Case, The Exercise Of Balancing The Power Of Many BJP Leaders With Yadav

भूपेंद्र को श्रम और पर्यावरण मंत्रालय:सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर केस में अहम भूमिका निभाने से संघ-BJP में तेजी से बढ़ा यादव का कद, अब केंद्र में महत्वपूर्ण मंत्रालयों की जिम्मेदारी

जयपुर2 महीने पहले
पीएम मोदी और अमित शाह के साथ भूपेंद्र यादव (फाइल फोटो)
  • मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाकर राजस्थान के नेताओं का पावर बैलेंस करने की भी कवायद

मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाए गए भूपेंद्र यादव को दो बड़े व अहम मंत्रालयों की जिम्मेदारी दी है। वह श्रम रोजगार व पर्यावरण मंत्रालय का कामकाज संभालेंगे। यादव राजस्थान से राज्यसभा सांसद हैं। उनके केंद्र में कैबिनेट मंत्री बनने के पीछे सियासी समीकरण साधने की कवायद तो है ही, RSS और BJP के टॉप नेताओं से उनके अच्छे संपर्कों के अलावा राम मंदिर केस में उनकी भूमिका भी एक प्रमुख कारण माना जा रहा है। राम मंदिर केस में उन्होंने जिस तरह सबूत जुटाने से लेकर पैरवी तक में सहायता दी उससे ही RSS और BJP में उनका कद बढ़ा।

भूपेंद्र यादव सुप्रीम कोर्ट के वकील हैं। यादव वकालत के दौरान उस समय BJP के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री दिवंगत अरुण जेटली के संपर्क में आए थे। अरुण जेटली से संपर्क में आने के बाद यादव का राजनीतिक सफर हुआ। जेटली ने ही राम मंदिर केस से संबंधित जिम्मेदारी यादव को सौंपी, इस केस में यादव ने खूब मेहनत की। राम मंदिर केस में भूमिका निभाने के बाद यादव का BJP और संघ में उच्च स्तर पर संपर्क बढ़ा और फिर लगातार तरक्की करते गए। साल 2010 में वे BJP राष्ट्रीय मंत्री बनाए गए, फिर 2012 में राजस्थान से राज्यसभा में भेजे गए, 2018 में राजस्थान से ही दोबारा राज्यसभा सांसद बने।

निर्विवाद छवि और साइलेंट वर्कर के तौर पर पहचान
भूपेंद्र यादव की छवि साइलेंट वर्कर की रही है और उनकी निर्विवाद छवि का फायदा भी उन्हें मिला। यादव को संगठन में जो भी जिम्मेदारियां दी गई उनमें भी परफार्मेंस दिखाई। राम मंदिर के अलावा BJP और RSS के नेताओं के खिलाफ UPA राज में हुए मुकदमों से राहत दिलाने के लिए बनी लीगल टीम का यादव प्रमुख हिस्सा रहे हैं।

भूपेंद्र यादव का कद बढ़ाकर BJP ने राजस्थान-हरियाणा से एक और चेहरा उभारा
भूपेंद्र यादव को कैबिनेट मंत्री बनाकर केंद्र में उन्हें एक बड़े चेहरे के तौर पर स्थापित करने की कवायद की गई है। आगे चलकर उन्हें पार्टी के चेहरे के तौर पर पेश किया जा सकता है। राजनीतिक प्रेक्षकों के मुताबिक भूपेंद्र यादव का कद बढ़ाकर मोदी ने दो राज्यों के लिए उपयुक्त फेस तैयार करने की कवायद की है। भूपेंद्र यादव मूल रूप से हरियाणा के हैं और अजमेर में पले पढ़े हैं, इसलिए दो राज्यों से जुड़ाव है। जरूरत पड़ने पर चुनावों के दौरान दोनों ही राज्यों में बीजेपी उनका इस्तेमाल कर सकती है। पार्टी के अंदरूनी सियासी समीकरणों के लि​हाज से भी भूपेंद्र यादव का कद बढ़ाकर कई नेताओं को सियासी मैसेज दिया गया है।

जोधपुर के अश्विनी ओडिशा के कोटे से बने केन्द्रीय मंत्री:IIT कानपुर से पढ़े, फिर IAS बने वैष्णव पर थी मोदी की निगाह, 2 साल पहले ओडिशा से राज्यसभा में भेजा गया था

राजस्थान से मोदी कैबिनेट में एक और कैबिनेट मंत्री:राज्यसभा सांसद भूपेंद्र यादव ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री की शपथ ली; शाह के करीबी हैं, 2013 में वसुंधरा की सुराज संकल्प यात्रा के संयोजक रहे थे

खबरें और भी हैं...