पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Big TRAP By Acb Jaipur Team In Shiksha Sankul In Night, AEN And JEN Trap Taking Bribe In Lieu Of Passing The Construction Bill Of Rs 35 Lakh, Asked For Rs 45 Thousand As Commission

जयपुर में रिश्वत लेते AEN-JEN ट्रैप:35 लाख के बिल पास करने के लिए मांगे 45 हजार रुपए, ACB पकड़ने पहुंची तो आरोपियों की कार में मिले 3.30 लाख रुपए

जयपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर में शिक्षा संकुल में गिरफ्त में AEN हरमीत सिंह और JEN रामप्रताप। - Dainik Bhaskar
जयपुर में शिक्षा संकुल में गिरफ्त में AEN हरमीत सिंह और JEN रामप्रताप।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) ने जयपुर में बड़ी कार्रवाई करते हुए AEN और JEN को 45 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने शिक्षा संकुल में करवाए गए निर्माण कार्य का बिल पास करने की एवज में रिश्वत मांगी थी। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार एसीबी की गिरफ्त में आए AEN हरमीत सिंह और JEN रामप्रताप है। इन दोनों आरोपियों की कार की तलाशी में 3 लाख 30 हजार रुपए भी मिले हैं। स्पेशल इन्वेस्टिगेशन यूनिट, जयपुर (ACB) के प्रभारी एडिशनल एसपी बजरंग सिंह शेखावत के नेतृत्व में यह कार्रवाई जेएलएन मार्ग पर स्थित शिक्षा संकुल परिसर में सोमवार देर रात तक चली।

अपने लिए और विभाग के उच्चाधिकारियों के लिए मांग रहे थे रिश्वत
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी AEN हरमीत सिंह व JEN रामप्रकाश है। ये दोनों समग्र शिक्षा अभियान, शिक्षा संकुल जयपुर में पदस्थापित हैं। इनके खिलाफ एक कांट्रेक्टर ने एसीबी मुख्यालय में शिकायत दर्ज करवाई थी।

इसमें बताया कि उसकी फर्म द्वारा श्रीगंगानगर में निर्माण कार्य करवाया गया था। इसके 35 लाख रुपए के बकाया बिलों के भुगतान की एवज में बतौर कमीशन आरोपी हरमीत सिंह और रामप्रकाश खुद के लिए और विभाग के उच्चाधिकारियों के लिए 45 हजार रुपए की रिश्वत मांग कर कई दिनों से परेशान कर रहे हैं। रिश्वत नहीं देने पर बिल का भुगतान भी नहीं कर रहे हैं।

सरकारी कार में मिले 3.30 लाख रुपए नकद, अन्य अफसरों की भी जल्द होगी गिरफ्तारी
एसीबी ने शिकायत का सत्यापन कर ट्रेप रचा। इसके बाद सोमवार रात को आरोपियों ने रिश्वत की रकम लेकर पीड़ित को शिक्षा संकुल परिसर में बुलाया। वहां दोनों अफसरों को डीएसपी सचिन शर्मा के नेतृत्व में टीम ने 45 हजार रुपयों की रिश्वत के साथ धरदबोचा। उनकी सरकारी कार से 3.30 लाख रुपए बरामद हुए हैं।

प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया कि दोनों ने विभाग के ही एक्जीक्यूटिव इंजीनियर और अन्य उच्चाधिकारियों के लिए कमीशन के रूप में रिश्वत ली है। मामले में एसीबी टीम ने देर रात तक दोनों अफसरों के घरों पर सर्च कार्रवाई की। माना जा रहा है कि जल्द ही इस केस में एक्जीक्यूटिव इंजीनियर और अन्य लोगों की पूछताछ के बाद गिरफ्तारी हो सकती है।

खबरें और भी हैं...