पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • BJP Leader Said Bhaskar Opened Up The Waste Of Vaccine In Rajasthan, Getting Vaccine In Dustbin Is An Insult To The People Of Rajasthan

भास्कर के खुलासे से घिरी गहलोत सरकार:BJP ने कहा- भास्कर ने राजस्थान में टीके की बर्बादी की कलई खोल दी, डस्टबिन में वैक्सीन मिलना जनता का अपमान

जयपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राजस्थान में डस्टबिन में कोरोना वैक्सीन के डोज मिलने के भास्कर के खुलासे के बाद गहलोत सरकार घिर गई है। विपक्षी भाजपा ने राज्य सरकार पर सवाल उठाए हैं। भास्कर के खुलासे के बाद केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके गहलोत सरकार पर हमला बोला। बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा, BJP IT सेल प्रमुख अमित मालवीय, बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया, उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ सहित भाजपा के कई विधायकों और पदाधिकारियों ने वैक्सीन डोज की बर्बादी पर सवाल उठाते हुए गहलोत सरकार से जवाब मांगा।

डस्टबिन से वैक्सीन मिलने पर हड़कंप:राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री ने खबर को झूठा बताया; भास्कर के पास कचरे में पड़ी 500 वायल का फोटो इसका सबूत

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा, 'राजस्थान में किस तरह वैक्सीन बर्बादी का खेल खेला गया, वह भास्कर ने उजागर किया है। वैक्सीन कहां बर्बाद हो रही है, भास्कर ने उसकी कलई खोल दी है। एक तरफ हमने केरल का उदाहरण देखा, जहां वैक्सीन डोज बचाकर डेढ़ से दो फीसदी ज्यादा लोगों को टीका लगाया गया। वहीं, राजस्थान में कचरे के डिब्बे में वैक्सीन मिलना राजस्थान की जनता का अपमान है। लोगों के स्वाथ्य से खिलवाड़ करने वाली सरकार, मुख्यमंत्री और चिकित्सा मंत्री को जनता कभी माफ नहीं करेगी। जनता हिसाब लेगी।

वैक्सीन बर्बादी पर CM स्थिति स्पष्ट करें
गजेंद्र सिंह ने कहा,बाथरूम के डस्टबिन से वैक्सीन डोज मिल रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्री अब वैक्सीन डस्टबिन में मिलने की खबर को गलत बताकर कार्रवाई की धमकी दे रहे हैं। वैक्सीन धमकाकर हासिल करने का तर्क दे रहे हैं। धमकाने वाले स्वास्थ्य मंत्री बताएं कि जब जबरन वैक्सीन हासिल की गई, तो किसी ने रिपोर्ट क्यों नहीं करवाई? जिस तरह का सरकार का आचरण और बर्ताव रहा है, इससे लग रहा है कि अब खुद को सही साबित करने के लिए पत्रकारों के खिलाफ झूठे मुकदमे करवाए जाएंगे। राजस्थान के सीएम को पूरे मामले पर स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए।

अमित मालवीय, संबित पात्रा ने खोला मोर्चा
भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा और BJP IT सेल के राष्ट्रीय प्रमुख अमित मालवीय ने भी वैक्सीन बर्बादी पर ट्वीट करके गहलोत सरकार को निशाने पर लिया। अमित मालवीय ने लिखा- राजस्थान में कोविड के टीके कचरे के डिब्बों में फेंके जा रहे हैं। एक तरफ राहुल गांधी वैक्सीन को लेकर रोज नसीहत देते हैं, दूसरी तरफ कांग्रेस की सरकारों में टीके बर्बाद किए जा रहें हैं। झारखंड, छत्तीसगढ़ और राजस्थान इसकी मिसाल हैं। कांग्रेस कोविड के खिलाफ लड़ाई को कमजोर कर रही है।

पूनिया बोले- गहलोत सरकार कोरोना के प्रबंधन को लेकर गंभीर नहीं
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने लिखा- कोरोना कुप्रबंधन राजस्थान में जगजाहिर है। पहली लहर के दौरान सरकार के बड़े हॉस्पिटल से 2.5 लाख मास्क चोरी होना, अब वैक्सीन का चोरी होना और वेंटिलेटर का शौचालय के कबाड़ में दिखना; ये इंगित करता है कि गहलोत सरकार कोरोना के प्रबंधन को लेकर गंभीर नहीं है। वैक्सीन का कबाड़ में मिलना, राज्य सरकार द्वारा कोरोना टीकाकरण पर की जा रही सियासत का भंडाफोड़ है। सरकार न तो कालाबाजारी पर रोक लगा पा रही और न ही वैक्सीन के बेकार होने पर रोक लगा पा रही। कुल मिलाकर यह बेकार की सरकार है, इससे और क्या उम्मीद की जा सकती है?

कार्रवाई की धमकी पर राठौड़ ने रघु शर्मा को घेरा
स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने ट्वीट कर वैक्सीन बर्बादी से साफ इनकार करते हुए पत्रकारों पर ही कार्रवाई की धमकी दी। इस पर बीजेपी नेताओं ने रघु शर्मा को घेरा। गजेंद्र शेखावत के बाद उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने रघु शर्मा पर निशाना साधते हुए ​लिखा- रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी झेलते राजस्थान में 21 मार्च को नाइट कर्फ्यू लगाकर 22 मार्च को पंजाब से दुगुने एक्टिव केस होने के बाद भी हजारों इंजेक्शन दूसरे राज्य में भेजने वाले स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा आज की खबर से सतर्क भी हुए और विचलित भी।

खोजी पत्रकार तथ्यपरक बातें चाहे किसी भी प्रकार लेकर आए, बोलती तस्वीरें झुठलाई नहीं जा सकती है। लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ समाचार पत्रों की खबरों को मार्गदर्शक और सकारात्मक दृष्टि से देखा जाना चाहिए ना कि अपने विभाग की गलती को ढकने के लिए दूसरों को कटघरे में खड़ा करने की कवायद की जाए। शायद मंत्री जी चाहते हैं कि कोरोना काल में सरकार के कुप्रबंधन व कमियों को लेकर पत्रकार ना छापे और सिर्फ सरकारी भोंपू की तरह ही काम करें। लेकिन स्वतंत्र लोकतंत्र में ऐसा होना नामुमकिन है। गहलोत सरकार किसी भी पत्रकार की आवाज को दबा नहीं सकती।

स्वास्थ्य मंत्री ने वैक्सीन बर्बादी पर राष्ट्रीय औसत गिना दिया
वैक्सीन बर्बादी पर स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा सुधार करने की जगह अलग ही आंकड़े गिनाने लगे। रघु शर्मा ने ट्वीट कर लिखा- वैक्सीन वायल का उपयोग करने के बाद इन्हें नियमानुसार संबंधित चिकित्सा संस्थान में ही जमा करवाया जाता है। कोरोना वैक्सीन के हर डोज की पूरी जानकारी केंद्र सरकार के CoWin या eVIN सॉफ्टवेयर पर दर्ज की जाती है। जिन वायल के बारे में अखबार ने जानकारी दी है वह सभी सॉफ्टवेयर में दर्ज हैं और इन सभी वायल का भारत सरकार के दिशा निर्देशानुसार समुचित उपयोग किया गया है।

प्रदेश में 1.66 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाई गई है। यहां 18-44 आयुवर्ग में जीरो वेस्टेज और 45 से अधिक आयुवर्ग में वैक्सीन का वेस्टेज 2% से कम है जो केन्द्र द्वारा अनुमत सीमा 10% व वैक्सीन वेस्टेज की राष्ट्रीय औसत 6% से बेहद कम है। राजस्थान वैक्सीनेशन में देशभर में अग्रणी है।

भास्कर का बड़ा खुलासा:राजस्थान में टीके की बर्बादी, 35 सेंटरों के कचरे में मिलीं 500 वायल, इनमें 2500 से भी ज्यादा डोज

खबरें और भी हैं...