• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Bjp Rajasthan President Satish Pooniya Said Rahul Gandhi Should Come To Rajasthan After Completing The Farmer's Loan Waiver Announcement

पूनिया बोले- कांग्रेस को खींचकर सिंहासन से उतारने का समय:राहुल गांधी किसान कर्जमाफी घोषणा पूरी करके आएं राजस्थान

जयपुर8 दिन पहले
पूनिया बोले-कांग्रेस पार्टी को खींचकर सिंहासन से उतारने का समय

बीजेपी ने राजस्थान में गहलोत सरकार की चौथी वर्षगांठ पर जन आक्रोश रैलियां निकालने के लिए सभी 200 विधानसभा क्षेत्रों में प्रभारी नियुक्त कर दिए हैं। 25 नवंबर से बीजेपी गहलोत सरकार के खिलाफ प्रदेश में कैम्पेनिंग शुरू करेगी और 1 दिसम्बर से प्रदेश के 200 विधानसभा क्षेत्रों में प्रचार रथ और जन आक्रोश रैलियां निकलने शुरू हो जाएंगे। बुधवार जयपुर के सी-स्कीम स्थित महावीर स्कूल ऑडिटोरियम में बीजेपी के 44 संगठनात्मक जिलों के कॉर्डिनेटर और को-कॉर्डिनेटर की बैठक को संबोधित करते हुए सतीश पूनिया ने यह बात कही। पूनिया ने दिसम्बर के पहले हफ्ते से राजस्थान में कांग्रेस नेता राहुल गांधी की 'भारत जोड़ो यात्रा' पर निशाना लगाते हुए कहा- राहुल गांधी राजस्थान की धरती पर कदम रखें, तो किसानों की सम्पूर्ण कर्जमाफी की घोषणा पूरी करके आएं। वरना उनका पाखंड राजस्थान का किसान और जवान नहीं मानेगा।

बीजेपी की जन आक्रोश यात्रा के लिए विधानसभा वाइज प्रभारियों की लिस्ट।
बीजेपी की जन आक्रोश यात्रा के लिए विधानसभा वाइज प्रभारियों की लिस्ट।

राहुल गांधी ने कहा था 10 तक गिनती गिनूंगा,किसानों का पूरा कर्जा माफ हो जाएगा

सतीश पूनिया ने कहा- राहुल गांधी ने पिछले विधानसभा चुनाव के प्रचार अभियान के दौरान जनसभा में कहा था कि मैं 1 से 10 तक की गिनती गिनूंगा और किसानों का पूरा कर्जा माफ हो जाएगा। एक बार तो मुझे भी भ्रम हो गया था। मेरे छोटे भाई इसी बात से तंग हैं कि पूरा ही कर्जा माफ कर देगा, तो उसे भी आसानी हो जाएगी। मैं तो उसी की आरती उतारने लग जाऊंगा। ये काम तो भगवान कृष्ण भी नहीं कर सकते थे। राजस्थान के 60 लाख किसान 1 लाख 30 हजार करोड़ के कर्जे की माफी का आज भी इंतजार करते हैं। राहुल गांधी राजस्थान की धरती पर अगर कदम रखें तो ये घोषणा पूरी करके आएं, तो मानेंगे कि उनकी बात में और जुबान में सच्चाई है। वरना इस पाखंड की कितनी ही याचना कर लें, राजस्थान का किसान और जवान नहीं मानेगा।

बीजेपी की जन आक्रोश यात्रा के लिए विधानसभा वाइज प्रभारियों की लिस्ट।
बीजेपी की जन आक्रोश यात्रा के लिए विधानसभा वाइज प्रभारियों की लिस्ट।

अलवर के मालाखेड़ा की जनसभा में रूप सिंह से किया नौकरी का वादा अधूरा

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बोले- मुझे पता लगा 2018 विधानसभा चुनाव से पहले राहुल गांधी की अलवर के मालाखेड़ा में एक सभा हुई थी। राहुल गांधी ने मालाखेड़ा में भाषण किया। जिसमें रोचक वाकया हुआ। राहुल ने कहा कांग्रेस सरकार आई और तुरंत नौकरी मिलेगी। एक नौजवान खड़ा हुआ। राहुल गांधी ने कहा क्या नाम है तुम्हारा। उसने कहा-रूप सिंह। राहुल गांधी बोले- रूप सिंह, तो रूप सिंह की नौकरी पक्की। 4 साल हो गए रूप सिंह बेचारा चक्कर ही काटते घूम रहा है। पूनिया ने कार्यकर्ताओं से कहा आपको कहीं रूप सिंह मिले तो राहुल गांधी के पास जरूर भेज देना। मैं भी ढूंढ़ रहा हूँ। इसलिए राहुल जब राजस्थान की धरती पर कदम रखें तो इन बातों का जवाब जरूर लेकर आएं।

राजस्थान में तुष्टिकरण की पराकाष्ठा

पूनिया ने कहा- राजस्थान में तुष्टिकरण की पराकाष्ठा है। ये कैसा शासन है जिसमें रामनवमी जुलूस पर पाबंदी लग जाए। हिन्दू नववर्ष पर अत्याचार हो, आयोजन को रोक दिया जाए। रमजान का गुणगान हो। बिजली के बिल माफ कर दिए जाएं। मैं सियासी बात नहीं कर रहा, लेकिन ये हकीकत है। भीलवाड़ा, करौली, जोधपुर में अत्याचार और तुष्टिकरण की पराकाष्ठा देखी होगी। केवल वोट बैंक की राजनीति, सियासी रोटी सेकने, केवल केंद्र सरकार को बदनाम करने के अलावा धरातल पर सरकार ने कुछ नहीं किया। ये संघर्ष और जन आक्रोश वैसा ही है, जिस तरह 1975 में आपातकाल के खिलाफ था। 2 लाख से ज्यादा लोग सत्ता के रथ का घर घर नाद सुनो, सिंघासन खाली करो कि जनता आती है, नारे लगाने लगे थे। उन्होंने कहा- आज इस कांग्रेस पार्टी को खींचकर सिंघासन से उतारने का समय है।

केवल एंटी इनकम्बेंसी नहीं जन आक्रोश है

सतीश पूनिया ने कहा-राजस्थान की सत्ता परसेप्शन और जनधारणा से बदलती है। एंटी इनकम्बेंसी से सत्ता विरोधी रूझान के कारण बदलती है। लेकिन इस समय केवल एंटी इनकम्बेंसी नहीं जन आक्रोश है। मोदी जी का काम और नाम राजस्थान की जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए एक ताकत है। आज 52 हजार में से 48 हजार बूथों पर बीजेपी के कार्यकर्ता सिपाही की तरह युद्ध के लिए तैनात हैं। हम पहले वोटर लिस्ट और पर्ची बांटते थे। आज पार्टी का एक-एक कार्यकर्ता पार्टी की अगुवाई करते हुए काम करता है। सत्ता बदलने के 1000 कारण होंगे, लेकिन 2023 में जो बड़ा कारण होगा, वो बीजेपी कार्यकर्ताओं की मेहनत और पसीना होगा जो इस आताताई सरकार को उखाड़ फेंकेगा।

पूनिया ने कहा- जन आक्रोश अभियान, आंदोलन और जन आक्रोश यात्रा को चलाने और इसमें काम करने वाले समय देकर इसे कामयाब बनाएं। राजस्थान की राजनीति में जब बदलाव का इतिहास लिखा जाएगा, तो यह जन आक्रोश यात्रा मील का पत्थर साबित होगी। आप सब लोगों का इतिहास के सुनहरे अक्षरों में नाम लिखा जाएगा। जन आक्रोश से सत्ता के बदलाव को पूरा देश देखेगा।

छोटी मोटी बात हो जाए तो अपने स्तर पर ठीक कर लेना

बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष ने कहा- हम राजनीतिक दल हैं। छोटी मोटी बातें होती हैं। राज- नाराजगी भी होती है। मतभेद भी होते हैं। लेकिन बीजेपी परिवार में प्रचारित जरूर किया जाता होगा। लेकिन मनभेद नहीं हैं। मतभेद दूर कर लिए जाते हैं। मनभेद दूर नहीं होते हैं। हम सब एक जाजम पर बैठकर बीजेपी के दोरंगे झण्डे और कमल के फूल के लिए समर्पित होते हुए काम करेंगे। छोटी मोटी बातें आएंगी। यात्रा जाएगी तो कौन यात्रा में भाषण देगा, कौन यात्रा को चलाएगा किसका नाम होगा। आपका नाम किसी बिरादरी या नेता के साथ जुड़ा होगा लेकिन इस छाते के नीचे आपकी पहचान,स्वाभिमान, गौरव, खूबी, आपका वर्तमान और भविष्य बीजेपी के साथ जुड़ा है । किसी विरोधी को एक इंच भी मौका नहीं मिल जाए कि आपकी यात्रा में आपकी आलोचना के लिए खड़ा हो। मैं इस परिवार में उम्र में बहुत कम हूं। लेकिन मुखिया के रूप में आपसे अपील करूंगा छोटी मोटी बात हो जाए अपने स्तर पर उसे ठीक कर लीजिएगा। मुझे खुशी होगी कि 200 विधानसभा क्षेत्रों में ये जन आक्रोश यात्रा राजस्थान नहीं हिन्दुस्तान में राजनीतिक बदलाव की क्रांति का नया अध्याय लिखेगी।

25 नवंबर से बीजेपी का गहलोत सरकार के 4 साल के खिलाफ आंदोलन और कैम्पेन शुरू हो जाएगा।
25 नवंबर से बीजेपी का गहलोत सरकार के 4 साल के खिलाफ आंदोलन और कैम्पेन शुरू हो जाएगा।

बीजेपी की जन आक्रोश यात्रा का यह रहेगा कार्यक्रम

-गहलोत सरकार के खिलाफ आंदोलन की शुरुआत- 25 नवम्बर से।

-25 से 30 नवंबर तक कांग्रेस सरकार के खिलाफ सोशल मीडिया कैम्पेन चलेगा।

- 26 नवंबर को राजधानी जयपुर में प्रदेश बीजेपी मुख्यालय में प्रेस वार्ता।

-27 नवंबर को सभी जिलों में बीजेपी नेता प्रेस कांफ्रेंस करेंगे।

-29 नवम्बर को जयपुर में प्रदेश स्तरीय रथ यात्रा की लॉन्चिंग।

-30 नवम्बर से जिलों में रथयात्राएं निकलनी शुरू होंगी।

-1 दिसंबर से सभी 200 विधानसभा क्षेत्रों में रथयात्रा के साथ जन आक्रोश रैलियां निकलेंगी।

-ग्राम पंचायत स्तर पर ग्राम चौपाल 1 से 10 दिसंबर तक लगाई जाएगी।

-प्रदेश लेवल पर प्रेस वार्ता 11 दिसंबर को होगी। इसके बाद बड़ा प्रदर्शन किया जाएगा।

-17 दिसंबर को कांग्रेस की गहलोत सरकार के खिलाफ बीजेपी प्रदेशभर में ब्लैक डे (काला दिवस) मनाएगी।

-20 दिसंबर तक जनआक्रोश रैलियां निकाली जाएंगी।

आगे पढ़िए ये महत्वपूर्ण ख़बरें-

सूचना-प्रसारण मंत्री ठाकुर बोले-धर्मांतरण पर कार्रवाई करे गहलोत सरकार:कहा-राजस्थान सरकार में दो बड़े नेताओं की लड़ाई, 'बांटो और राज करो' की सोच

केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव बोले-BJP संगठन आधार पर लड़ेगी चुनाव:कहा-मोदी ने राजनीति का डायरेक्शन बदला, PM का विजन इम्प्लीमेंट करने में मेरी भूमिका

खबरें और भी हैं...