जयपुर एयरपोर्ट पर बम सर्च की मॉक ड्रिल:सुरक्षा एजेंसिया ने टर्मिलन वन को घेरा; बम निरोधक दस्ता, डॉग स्क्वायड ने एक घंटे तक की कार्गो चैकिंग

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मैटल डिटेक्टर से सामान की जांच करता बम निरोधक टीम का जवान। - Dainik Bhaskar
मैटल डिटेक्टर से सामान की जांच करता बम निरोधक टीम का जवान।

जयपुर एयरपोर्ट के टर्मिनल-1 के पास बनाए कार्गो टर्मिनल पर बुधवार को बम होने की सूचना मिली। सूचना मिलते ही सीआईएसएफ के जवान समेत बम निरोधक दस्ता, फायर ब्रिगेड समेत तमाम सुरक्षा एजेसियों के जवान और अधिकारी मौके पर पहुंचे। एक-एक सामान की जांच की। डॉग स्क्वायड की टीम ने भी एक-एक कार्गो की जांच की, लेकिन राहत की सांस तब ली जब बम कहीं भी नहीं मिला। दरअसल ये पूरी घटना एक मॉकड्रिल थी। टर्मिनल एक को जल्द ही यात्रियों के लिए शुरू किया जाएगा। इसी टर्मिनल पर कार्गो कॉम्प्लेक्स बना है।

डॉग स्क्वायड की टीम सामान की जांच करते हुए।
डॉग स्क्वायड की टीम सामान की जांच करते हुए।

बम के दौरान सुरक्षा एजेंसियां कैसे राहत-बचाव का काम करेगी इसकी जांच के लिए यह मॉक ड्रिल रखी गई। मॉक ड्रिल के लिए एयरपोर्ट से बम होने की सूचना राज्य सरकार की एजेंसियों को दी गई। बम की सूचना पर पूरा प्रशासन चिंतित हो उठा। तुरंत ही पुलिस के बम निरोधक दस्ता, डॉग स्क्वाड, फायर ब्रिगेड, नजदीकी पुलिस थानों के सुरक्षा बल, सिविल डिफेंस व अन्य एजेंसियों के अधिकारी-कर्मचारी पहुंचने लगे। वे एयरपोर्ट के अंदर चले गए। बम निरोधक दस्ता, डॉग स्क्वाड ने एक-एक सामान की तलाशी लेनी शुरू कर दी और मेटल डिटेक्टर से जांच शुरू कर दी।

इस दौरान सुरक्षा बलों ने पूरे टर्मिनल भवन को घेरे में ले लिया और कर्मचारियों को बाहर निकाला। वहीं डॉग स्क्वायड टीम के में आए डॉग से भी बम की तलाशी शुरू कर दी। करीब एक घंटे तक चली जांच-पड़ताल के बाद किसी भी कार्गो व लगेज में बम नहीं मिला, जिसके बाद पूरे प्रशासन ने राहत की सांस ली।

खबरें और भी हैं...