पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लापरवाही से हो सकता है हादसा:प्रताप नगर सेक्टर-8 महावीर पार्क में बोरिंग और लाइटों के खुले तार बन सकते हैं हादसे का कारण

जयपुर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मानसरोवर के एक पार्क में करंट से बच्चे की माैत हाेना गैर जिम्मेदाराना कार्यप्रणाली काे उजागर करता है, जाे सिस्टम के लिए शर्मनाक है। - Dainik Bhaskar
मानसरोवर के एक पार्क में करंट से बच्चे की माैत हाेना गैर जिम्मेदाराना कार्यप्रणाली काे उजागर करता है, जाे सिस्टम के लिए शर्मनाक है।

सांगानेर प्रताप नगर सेक्टर-8 के महावीर पार्क में बोरिंग कनेक्शन व लाइटों के तार खुले पड़े है, जिससे करंट लगने पर हादसा हाे सकता है। इस सेक्टर में सुखदेव पार्क में भी लाइटों के तार खुले में पड़े है। शहर में पार्कों की देख-रेख का जिम्मा दाेनाें नगर निगम का है। मानसरोवर के एक पार्क में करंट से बच्चे की माैत हाेना गैर जिम्मेदाराना कार्यप्रणाली काे उजागर करता है, जाे सिस्टम के लिए शर्मनाक है।

स्थानीय निवासी आशुतोष ने बताया कि महावीर पार्क में तीन साल पहले बोरिंग लगाया था। पानी की माेटर स्टार्ट करने के बिजली बाॅक्स काे कनेक्शन देने वाले कर्मचारी जमीन पर ही रखकर चले गए। जाे तीन साल से अब भी वहीं रखा हुआ है। जंग खाकर बाॅक्स टूट चुका उसमें से बिजली के तार खुले में पड़े है। कई बार लाेग करंट खा चुके।

बाॅक्स खुला हाेने से बच्चे ही माेटर स्टार्ट कर देते है। दाेनाें पार्कों में लाइटों के पाेल पर लगे स्विच बाॅक्स जमीन के लेवल पर लगे है। बरसात के दाैरान पार्क में बरसात का पानी भरने से स्विच बाॅक्स पानी में डूब जाते हैं। ऐसे में करंट से हादसा हाेने का डर बना हुआ है। उन्होंने बताया कि निगम काे इस बारे में कई बार लिखित में दे चुके, लेकिन अब तक ठीक नहीं करवाया गया।

खबरें और भी हैं...