एसएमएस:ब्रेन स्ट्रोक के मरीजों को अब कम समय में इलाज मिलेगा, इंटरवेंशनल लैब इसी महीने के अंत में खुलेगी

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एसएमएस अस्पताल में न्यूरो इंटरवेंशनल लैब इस महीने से काम करने लगेगी। ब्रेन स्ट्रोक से लेकर लकवा और अन्य रोगियों को और बेहतर इलाज मिलने लगेगा। एसएमएस न्यूरोसर्जरी विभागाध्यक्ष डॉ.अचल शर्मा का कहना है कि मशीन से थ्री डी बाय प्लानर ले सकेंगे। साथ ही मरीज को लो-रेडिएशन पर इलाज मिलेगा और थ्री डी फेसिलिटी पिक्स भी मिल सकेगी। फिलहाल, अभी जो मशीन है वह 10 साल पुरानी है और उसकी गुणवत्ता भी अब खराब होती जा रही है। इस लैब में 10 करोड़ रुपए की मशीने लगाई गई हैं।

इस लैब के शुरू होने के साथ ही विश्व स्तरीय इलाज संभव होगा। ब्रेन और गर्दन की नसों की एंजियोग्राफी, लकवा रोगी की नसों में कैथेटर से सीधे थक्के वाले स्थान पर दवा पहुंचाई जा सकेगी। गर्दन की नसों में सिकुड़न आने पर एंजियोग्राफी कर उसे दूर किया जा सकेगा। न्यूरोसर्जन डॉ.मनीष अग्रवाल ने बताया जिन मरीजों में ब्लीड होता है उनके काइलिंग या स्टेंट डाले जाते हैं। अब थ्री डी प्लानर से यह बहुत जल्दी और गुणवत्ता पूर्वक किया जा सकेगा। अब यहां न्यूरो पेशेंट का क्वालिटी ऑफ ट्रीटमेंट और बेहतर होगा। ट्रायल के तौर पर मरीजों का इलाज कर रहे हैं जिसका जल्दी ही मुख्यमंत्री उद्घाटन करेंगे।

खबरें और भी हैं...