पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

एनईपी-2020:आईआईटीज में चार साल का ही होगा बीटेक, सीटें बढ़ने से छात्रों को मिलेगा फायदा

जयपुर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
(फाइल फोटो)
  • आईआईटी ने अपनी स्थिति साफ की, हर संस्थान की अपनी एग्जिट पॉलिसी
  • तीन व चार साल में डिग्री अवॉर्ड करने का प्रावधान फिलहाल बीएससी, बीकॉम, बीए जैसे यूजी कोर्सेज के लिए

(दीपक आनंद) नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2020 में यूजी प्राेग्राम में तीन से चार साल में ही डिग्री मिलने का प्रावधान किया गया है। लेकिन इस बीच चार साल की इंजीनियरिंग डिग्री की अवधि को लेकर स्टूडेंट्स कन्फ्यूज्ड हैं। इसे दूर करने के लिए भास्कर ने आईआईटी दिल्ली के डायरेक्टर वी.रामगोपाल राव से बात की। उन्होंने यह स्पष्ट किया है कि आईआईटी में बीटेक चार साल का ही होगा।

तीन व चार साल में डिग्री अवॉर्ड करने का प्रावधान फिलहाल बीएससी, बीकॉम, बीए जैसे यूजी कोर्सेज के लिए है। स्टेट के इंजीनियरिंग संस्थान क्या इस अवधि में परिवर्तन करेंगे इस सवाल के जवाब में बीकानेर टेक्निकल यूनिवर्सिटी के वीसी प्रो. एचडी चारण का कहना है कि अभी यह पॉलिसी शुरुआती चरण में है। केंद्र की गाइडलाइन के बाद अब एकेडमिक काउंसिल व अन्य निकाय इस पर फैसला लेकर लागू करेंगे।

जल्द ही 50% होगा जीईआर ...क्वालिटी एजुकेशन मिलेगी छात्रों को
नई पॉलिसी में यह तय किया गया है कि हायर एजुकेशन इंस्टीट्यूट्स में 50 प्रतिशत ग्रोस एनरोलमेंट रेशो (जीईआर) बढ़ाया जाएगा। इसका सीधा असर आईआईटी व एनआईटी की सीटों पर पड़ेगा। यहां पर सीटों की संख्या बढ़ने पर अधिक छात्रों को एडमिशन मिल पाएगा। इसके साथ ज्यादा संख्या में छात्रों को क्वालिटी एजुकेशन दी जा सकेगी। हालांकि प्रतिस्पर्धा भी बढ़ जाएगी।

दूसरे शहरों में अपने कैंपस खोलने की अनुमति
नेशनल एजुकेशन पॉलिसी की महत्वपूर्ण बात यह है कि अब आईआईटी जैसे संस्थान अन्य जगहों पर अपना कैंपस खोल पाएंगे। इसका अर्थ है कि एक आईआईटी दूसरे शहर में जाकर खुद का दूसरा कैंपस खोल सकता है। उदाहरण के तौर पर आईआईटी दिल्ली देश में किसी भी शहर में अपना ही दूसरा कैंपस खोल सकता है।

वर्तमान में देश में 23 आईआईटी हैं। जो छात्र सीमित सीटों के कारण दिल्ली स्थित आईआईटी या मुंबई में आईआईटी बॉम्बे में प्रवेश नहीं ले पा रहे हों वे उस आईआईटी के दूसरे शहर में स्थित कैंपस में प्रवेश ले सकते हैं। दूसरे शहरों में संस्थान खुलने पर छात्रों के लिए अवसर बढ़ जाएंगे। हालांकि नए कैंपस की क्वालिटी बनाए रखना आईआईटीज के सामने चुनौती भरा होगा।

^बीटेक चार साल का है। इसकी अवधि कम करने का कोई प्रस्ताव नहीं है। एग्जिट स्कीम अलग-अलग आईआईटी ही तय करते हैं। तीन व चार साल का नियम बीएससी जैसे कोर्सेज में लागू होगा। चार साल बाद ही आईआईटी बीटेक की डिग्री अवाॅर्ड करेगा। -वी. रामगोपाल, डायरेक्टर, आईआईटी दिल्ली

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें