पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Business Organizations Came Out In Protest Against The Threat To The Builder In The Name Of Lawrence Gang, Will Meet The Commissioner Today

बदमाशों को गिरफ्तार करने की मांग:लॉरेंस गैंग के नाम से बिल्डर को धमकी के विरोध में उतरे व्यापारिक संगठन, आज कमिश्नर से मिलेंगे

जयपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शहर में बिल्डर को लॉरेंस गैंग के नाम से दी गई धमकी के संबंध में रविवार को राजापार्क में व्यापारिक संगठनों ने एकजुट होकर बैठक की। बैठक में फोर्टी के अध्यक्ष सुरेश अग्रवाल, राजापार्क व्यापार मंडल के अध्यक्ष रवि नैय्यर, जयपुर व्यापार मंडल के अध्यक्ष ललित सिंह संचौरा, उपाध्यक्ष भंवर सिंह, क्रेडाई के वाइस चेयरमेन एन.के. गुप्ता, क्रेडाई के एग्जीक्यूटिव प्रेसिडेंट रविन्द्र प्रताप सिंह, मदन यादव व आशीष कुमार सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

राजापार्क व्यापार मंडल के अध्यक्ष रवि नैय्यर ने बताया कि शहर में पहली बार हुई इस तरह की घटना से व्यापारी जगत में भय का माहौल बना हुआ है। पुलिस जल्द से जल्द इस मामले में शामिल अपराधियों को पकड़कर व्यापारियों व आम जनता में फैले इस भय के माहौल को खत्म करें।

गाैरतलब है कि जवाहर नगर में रहने वाले बिल्डर निश्चल भंडारी के माेबाइल पर वाट्सएप काॅलिंग कर बदमाश ने एक कराेड रुपए मांगे थे। जवाहर नगर थाने में मामला दर्ज कराया। मामले काे लेकर राजापार्क व्यापार मंडल के लाेग साेमवार काे पुलिस कमिश्नर से मिलेंगे।

ट्रेड लाइसेंस रद्द, हर साल 11 सितंबर को एकता दिवस मनाएंगे शहर के कारोबारी
जयपुर व्यापार उद्योग महासंघर्ष समिति की ओर से ट्रेड लाइसेंस के निर्णय को रद्द किए जाने के उपलक्ष्य में हर साल 11 सितंबर को व्यापारी एकता दिवस के रूप में मनाए जाने का निर्णय लिया गया है। इस दिन को ऐतिहासिक बनाने के लिए हर साल सभी बाजारों के प्रतिनिधि एकजुट होकर कैंडल जलाकर व्यापारियों की एकजुटता का परिचय देंगे।

महासंघर्ष समिति के सदस्य ललित सिंह सांचौरा, सुरेश सैनी, सुभाष गोयल, रवि नैयर, पवन गोयल, सुरेंद्र बज और हरीश केडिया की विशेष बैठक में यह निर्णय लिया गया। संघर्ष समिति के सदस्य जयपुर के सभी बाजारों के समस्याओं को लेकर राजनीतिक व सरकारी संगठनों से मिलेंगे और बाजारों की समस्याओं का निदान करवाएंगे।

इस मौके पर व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधि भंवर सिंह शेखावत व नरेंद्र मारवाल भी मौजूद रहे। गौरतलब है कि ट्रेड लाइसेंस की वजह से फुटपाथ कारोबारी, फल सब्जी विक्रेता और अन्य दुकानदारों से 10 हजार से एक लाख तक का शुल्क नगर निगम की ओर से वसूले जाने का निर्णय लिया गया था।

खबरें और भी हैं...