ग्रेटर नगर निगम:मेयर के आदेश पर भी नहीं आए बीवीजी के संसाधन

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ग्रेटर नगर निगम क्षेत्र में जब भी महापाैर शील धाभाई सफाई व्यवस्था देखने निकली ताे ज्यादातर जगह सड़काें पर कचरे के ढेर ही लगे हुए मिले। - Dainik Bhaskar
ग्रेटर नगर निगम क्षेत्र में जब भी महापाैर शील धाभाई सफाई व्यवस्था देखने निकली ताे ज्यादातर जगह सड़काें पर कचरे के ढेर ही लगे हुए मिले।

ग्रेटर नगर निगम क्षेत्र में जब भी महापाैर शील धाभाई सफाई व्यवस्था देखने निकली ताे ज्यादातर जगह सड़काें पर कचरे के ढेर ही लगे हुए मिले। साथ ही स्थानीय लाेगाें ने भी माैके पर ही मेयर से समय पर कचरा नहीं उठने की शिकायतें की। लगातार मेयर सफाई का जायजा ले रही हैं, फिर भी सड़काें से कचरा कम नहीं हाे रहा। इसके पीछे मुख्य कारण है कि जाेन उपायुक्त व सफाई व्यवस्था के लिए जिम्मेदार अफसर नियमित माॅनिटरिंग नहीं कर रहे है। साथ ही लापरवाही बरतने वालाें पर भी निगम की ओर से काेई सख्त कार्रवाई नहीं की जा रही है।

साेमवार काे फिर सुबह 10 बजे महापाैर धाबाई ने झाेटवाड़ा जाेन का निरीक्षण किया, ताे वार्ड 53, 55 व 56 में स्थित तलाई करनी पैलेस रोड, नर्सरी सर्किल से बाईपास, आम्रपाली सर्किल गौतम मार्ग की मुख्य सड़कों पर कचरे ढेर लगे मिले। गंदगी देख महापौर ने नाराजगी जताई और सड़काें से कचरा उठाने के लिए बीवीजी के प्रतिनिधि को फोन किया। मेयर के बुलावे पर भी कचरा उठाने के लिए बीवीज ने काेई संसाधन उपलब्ध नहीं करवाए ताे मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक को निर्देश देकर निगम के संसाधनाें से सड़कों एवं ओपन डिपो से कचरे को उठाने की व्यवस्था करवाई गई। बीवीजी के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए। लेकिन हकीकत यह है कि मेयर के निर्देशाें पर निगम अधिकारी अमल नहीं कर रहे है, इस वजह से बिगड़ी हुई सफाई व्यवस्था पटरी पर नहीं आ पा रही ।

वार्ड 124 : नालियाें में मलबा डाल निकासी बंद की
आगरा राेड स्थित ग्रेटर निगम के वार्ड 124 की नालियाें में मलबा डालकर निकासी बंद कर दी गई, इस वजह से गंदा पानी जमा हाे गया। खंडेलवाल नगर, पटेल नगर, देव नगर में नालियां ब्लॉक होने से घरों के आगे पानी जमा हाे गया। साथ ही डेगूं, मलेरिया जैसी बीमारी फैलने का डर भी बना हुआ है।

गंदा पानी जमा हाेने से अब ताे दुर्गंध भी आने लग गई है। आने-जाने वाले लाेगाें काे भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। स्थानीय लोगों ने ग्रेटर निगम में भी कई बार शिकायतें दर्ज करवा दी फिर भी काेई समाधान नहीं हाे रहा है। स्थानीय निवासी नीरज कुमार ने बताया कि अगर यहां सीवर लाइन बिछा दी जाए तो इस समस्या का समाधान हाे सकता है।

खबरें और भी हैं...